भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों मिला लैपटॉप एक छात्रा के लिए परेशानी का सबब बन गया. इस लैपटॉप के चलते उसके घर 13 हजार रुपये का बिजली बिल आ गया. मामला सतना जिले के बिरसिंहपुर का है. दरअसल शिवराज सिंह के हाथों दिया गया लैपटॉप जब इस छात्रा ने चलाया तो बिजली विभाग ने बिजली चोरी का केस बनाकर 13 हजार रुपए का जुर्माना ठोक दिया.

पीड़ित छात्रा साक्षी के अनुसार उसे इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि लैपटॉप का इस्तेमाल करने की इतनी महंगी कीमत चुकानी होगी. साक्षी को 12वीं की परीक्षा में 87 फीसदी अंक आए थे. इसी वजह से राज्य सरकार ने उसे लैपटॉप और 25 हजार रुपये का इनाम दिया था. अब परिवार सरकार से लैपटॉप वापस लेने की बात कह रहा है. सिविल सेवा में जाने का सपना देखने वाली साक्षी ने एकल बिजली कनेक्शन के तहत लैपटॉप चलाया था. इस पर बिजली विभाद ने परिवार को 13000 का बिल थमा दिया.

इस पूरे मामले पर साक्षी का कहना है कि 12वीं में उसके 85 फीसद से ज्यादा नंबर आए थे जिससे सीएम साहब ने उसे लैपटॉप दिया. साक्षी का कहना है कि वो इस लैपटॉप से पढ़ती भी हैं दूसरा काम भी करती हैं जिससे कि किताबें खरीद सकें लेकिन बिजली विभाग ने उस पर बिजली चोरी का आरोप लगा दिया. वो चाहती हैं मुख्यमंत्री जी सतना आएं तो लैपटॉप ले जाएं उन्हें इसकी जरूरत नहीं है.

साक्षी का परिवार आर्थिक रूप से काफी कमजोर है. उसके परिवार का कच्चा मकान धराशाई हो गया और पक्का मकान अधूरा है, बरसात में यहां रहना मुश्किल है. बड़ी बहन 2015 में बीएड कर चुकी है लेकिन उसे अभी तक नौकरी नहीं मिली है. बिजली विभाग के इस फरमान से अब इस परिवार की समस्या बढ़ गई है.

छात्र ने सीएम से कहा, पढ़ाई में जाति मत देखिए तो शिवराज सिंह चौहान बोले- बड़े दिलवाले बनो

शिवराज सिंह चौहान के मंच पर आते ही आवाज आई I LOVE YOU, नेताजी ने दिया मजेदार जवाब

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App