नई दिल्ली: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने राज्य की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कुछ ऐसा बोल गए जिससे खुद उनकी सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े हो गए हैं. समाजवादी पार्टी से अलग होकर खुद की पार्टी बनाने वाले शिवपाल यादव ने कहा कि हमारी सपा सरकार में जो काम पहले 100-500 या हजार रूपये देकर हो जाता था उसके लिए अब दारोगा को 10 हजार रूपये देना पड़ता है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि झूठी रिपोर्ट हटवाने के अब 50 हजार से 1 लाख रूपये तक लगते हैं.

गोंडा के इटियाथोक में स्वागत समारोह में शामिल होने पहुंचे शिवपाल यादव ने कहा कि देश में और यूपी में जो स्थित बनती जा रही है उससे जनता बहुत दुखी है. शिवपाल यादव ने कहा कि सरकार ने पहले नोटबंदी लाकर लोगों की कमर तोड़ दी, फिर जीएसटी लाकर व्यापारियों पर बोझ डाल दिया और अब वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लोग पूरी तरह से टूट चुके हैं.

शिवपाल यादव ने कहा कि सरकार का फैसला ना देशहित में है और ना ही जनता के हित में है. राज्य की योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि इस वक्त राज्य के अलग-अलग थानों में मुकद्दमा दर्ज कराने के लिए अलग-अलग रकम की डिमांड होती है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान अधिकारी जनता का काम करते थे. उन्होंने आगे कहा कि यूपी की जनता ने सत्ता परिवर्तन करने का फैसला किया है इसलिए आने वाले समय में उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लडेगी.

देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी शिवपाल यादव के बयान पर क्या पटलवार करती है क्योंकि कहते कहते शिवपाल यादव ये भी कह गए हैं कि उनकी सरकार के दौरान 100-500 में काम हो जाता था. यानी शिवपाल यादव मान रहे हैं कि उनकी सरकार के समय में भ्रष्टाचार था जो अब और बढ़ गया है जैसा वो दावा कर रहे हैं.

Mayawati Attacks Narendra Modi Govt Over CAA: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर यूपी विधानसभा में हंगामा, बसपा सुप्रीमो मायावती बोलीं- सीएए को वापस ले सरकार नहीं तो आपातकाल जैसी स्थिति बन जाएगी

Shivpal Yadav on Alliance with SP Akhilesh Yadav: शिवपाल सिंह यादव बोले- सरकार बनेगी तो सीएम अखिलेश यादव ही बनेंगे, सपा और प्रसपा का होना चाहिए गठबंधन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर