गुरुग्राम. 10 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि शुरू हुए हैं. जिसे लेकर नया विवाद सामने आया है. दरअसल हिंदू संगठन और शिवसेना वालों ने गुरुग्राम में 400 से ज्यादा मीट की दुकानें को नवरात्रि के चलते बंद करवा दी हैं. इससे पहले इन संगठनों ने दुकानदारों को धमकाया था कि अगर वह ऐसा नहीं करते तो वह जबरन शॉप्स बंद करवाएंगे. जिसके बाद उन्होंने ऐसा ही किया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिवसेना की गुड़गांव इकाई के प्रमुख गौतम सैनी ने पीटीआई को बताया कि बुधवार की सुबह ओल्ड रेलवे रोड पर स्थित भगवान शिव मंदिर में विभिन्न हिंदू संगठनों के लगभग 300 सदस्य इकट्ठे हुए थे और मीट दुकानों को बंद करने के लिए अलग-अलग जगहों पर पहुंचे थें.

मीडिया के मुताबिक स्थानीय लोगों ने दावा किया कि बुधवार को पलाम विहार में हिंदू संगठन व शिवसेना के कार्यकर्ताओं के एक समूह इकट्ठा हुआ और सूरत नगर, अशोक विहार, सेक्टर 5 और 9, पटौदी चौक, जैकबपुरा, सदर बाजार, खांडा अंज मंडी, बस स्टैंड, डीएलएफ क्षेत्र, सोहना में मांस बाजारों को जबरन बंद कर दिया. मीडिया को स्थानीय लोगों ने बताया कि डर की वजह से 50 फीसदी दुकानें तो पहले ही बंद थी क्योंकि हर साल नवरात्रि के आसपास इस तरह की घटना देखने को मिलती है.

हिंदू सेना के राज्य अध्यक्ष रितु राज ने मीडिया से कहा कि हिंदू संगठन पूरे नवरात्रि में अपना प्रयास जारी रखेंगे. अगला लक्ष्य नया गुड़गांव है जहां बड़ी संख्या में मांस की दुकानें हैं. वहीं मीडिया के पूछे जाने पर पुलिस ने बताया कि उन्होंने इन संगठनों द्वारा मार्च निकाले जाने के दौरान 4 लोगों को अरेस्ट किया था. साथ ही शांति को भंग करने को लेकर एफआईआर भी दर्ज की गई है. वही डीसीपी सुमित कुहर ने मीडिया से कहा कि हम इस मामले को देख रहे हैं. किसी को भी कानून हाथ में लेना का हक नहीं है. इस मामले पर उन्होंने पूरी नजर बनाई हुई है. हम किसी को नवरात्रि के दौरान मांस की दुकानों को जबरन बंद नहीं होने देंगे.

VIDEO: मुस्लिम टोपी पहनने से CM नीतीश कुमार के मंत्री बिजेंद्र यादव ने किया मना, मचा बवाल

गुरुग्राम में दुकान के हिंदू भाई चिकन शॉप नाम से भड़के लोगों ने मचाया हंगामा, केस दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App