नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर मामले की छात्रा ने दिल्ली पुलिस को दिए बयान में स्वामी चिन्मयानंद को लेकर सनसनीखेज खुलासा किया. वकालत कर रही छात्रा का आरोप है कि पूर्व गृह राज्य मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता स्वामी चिन्मयानंद ने पीड़िता के साथ लगातार रेप किया, उसकी अश्वलील वीडियो बनाई और फिर उन्हें के दम पर ब्लैकमेल किया गया. दूसरी ओर हैरान करने वाली बात ये है कि इस मामले को लेकर यूपी पुलिस ने भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद से कोई सवाल नहीं किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, छात्रा ने अपनी 12 पेजों की शिकायत रिपोर्ट में कई आश्रम और शिक्षण संस्थान चलाने वाले स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए. पीड़िता ने बताया कि जून 2017 में शाहजहांपुर के स्वामी के लॉ कॉलेज में एडमिशन को लेकर उसकी पहली बार चिन्मयानंद की मुलाकात हुई. स्वामी ने पीड़िता का मोबाइल नंबर लिया और कॉलेज में एडमिशन करवा दिया. कुछ समय बाद स्वामी ने छात्रा को कॉलेज की लाइब्रेरी में 5 हजार रुपए प्रतिमाह की नौकरी ऑफर की. गरीब परिवार की वजह से पीड़िता ने नौकरी स्वीकार ली.

पीड़िता का आरोप है कि कुछ दिनों बाद स्वामी ने उसकी नहाते समय बनाई गई वीडिया दिखाकर वायरल करने की धमकी देते हुए उसका रेप किया. बलात्कार के दौरान भी स्वामी ने वीडिया बनाई जिसे बाद में ब्लैकमेल करने के लिए इस्तेमाल किया गया. पीड़िता का आरोप है कि उस गन पॉइंट पर जबरन स्वामी के आगे लाया जाता और मसाज करवाया जाता. जुलाई 2019 तक पीड़िता का लगातार शोषण किया गया.

पिछले सप्ताह दिल्ली पुलिस में दी शिकायत में पीड़िता ने कहा उन्हें यूपी पुलिस पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं है. शाहजहांपुर डीएम मेरे पिता को धमकियां दे रही हैं. मुझे यूपी पुलिस से डर लग रहा है. पीड़िता ने शिकायत में कहा कि स्वामी के खिलाफ सभी सबूत उनके होस्टल रूम में मौजूद हैं जो समय आने पर जमा करा दिए जाएंगे.

Supreme Court on UP Shahjahanpur Case: शाहजहांपुर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई खत्म, बरेली में पढ़ेगी लड़की और उसका भाई, दोनों को मिलेगी हॉस्टल सुविधा

SIT Inquiry in UP Woman Chinmayanand case: शाहजहांपुर से लापता हुई युवती मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एसआईटी जांच कराने का आदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App