नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने बॉन्ड के जरिए 2 अरब डॉलर जुटाने की योजना बनाई है.  यह जानकारी बुधवार को दी. भारतीय स्टेट बैंक ने कहा कि निदेशक मंडल की बैठक अगले सप्ताह होने वाली है, जिसमें बॉन्ड या अन्य माध्यमों के सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से $ 2 बिलियन जुटाने पर विचार किया जाएगा. स्टॉक एक्सचेंजों को दी गई जानकारी में एसबीआई ने कहा कि उसके केंद्रीय बोर्ड की कार्यकारी समिति की 10 मई को बैठक है, जिसमें प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा. आपको बता दें कि एसबीआई का शेयर बुधवार को बीएसई पर 2.27 फीसदी की गिरावट के साथ 479.60 रुपये पर बंद हुआ था.

दूसरी ओर, एसबीआई प्रमुख दिनेश खारा ने बुधवार को रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट और सीआरआर बढ़ाने के कदम को बाजार की मदद के लिए एक कदम बताया है. दिनेश खारा ने कहा कि रिजर्व बैंक का नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) में अचानक वृद्धि के साथ-साथ नीतिगत दर केंद्रीय बैंक के लचीलेपन को दर्शाता है. उन्होंने कहा कि इससे बाजार को सपोर्ट मिलेगा. खारा ने समस्या से निपटने के लिए एक अग्रिम कार्रवाई के रूप में आरबीआई के कदम को रेखांकित किया.

 ‘RBI ने वैश्विक स्तर पर बदलती स्थिति को ध्यान में रखते हुए कदम उठाए 

उन्होंने कहा, ‘भारतीय रिजर्व बैंक ने वैश्विक स्तर पर बदलते हालात को भांपते हुए रेपो रेट और सीआरआर बढ़ाकर अग्रिम कदम उठाए,. यह आरबीआई के कामकाज में लचीलेपन को दर्शाता है.इससे बाजार को सपोर्ट मिलेगा.

रेपो रेट में 0.40 फीसदी और कैश रिजर्व रेशियो में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी

इससे पहले दिन में, आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक वीडियो संदेश जारी किया जिसमें उन्होंने छह सदस्यीय रेटिंग पैनल के बारे में बात की, जो ऑफ-शेड्यूल से मिले और रेपो दर में 0.40 प्रतिशत और नकद आरक्षित अनुपात में वृद्धि हुई. 0.50 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की.

 

 

महाराष्ट्र: अजान के वक्त दोगुनी आवाज में बजी हनुमान चालीसा, कई मनसे कार्यकर्ता गिरफ्तार

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर