नई दिल्ली. बैंक में ग्राहक का पैसा सुरक्षित होता है. लेकिन इसी सुरक्षा को भेदने के लिए चोर रोज नए तरीके ढूंढते हैं. कुछ तरीकों में वो कामयाब भई हो जाते हैं और बैंक से ग्राहकों का पैसा निकाल कर अकाउंट खली कर देते हैं. अब ऐसा ही एक तरीका चोरों को मिल गया है. इसके जरिए एसबीआई के खाता धारकों के अकाउंट से पैसे निकाले जा रहे हैं. अकाउंट से पैसे निकालने का चोर एक नया तरीका अपना रहे हैं. चोरी एसबीआई ग्राहकों से ही की जा रही है. दरअसल नेट बैंकिंग के जरिए लोगों को अकाउंट खाली किए जा रहे हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले एक साल में भारत में बैकिंग धोखाधड़ी की घटनाओं में वृद्धि हुई है. रिपोर्ट में इसका कारण बताया गया है कि लोग इंटरनेट बैकिंग या यूपीआई पेमेंट में सावधानी नहीं बरत रहे. हालांकि इन बढ़ती धोखाधड़ी को देखते हुए बैंक भी चेतावनी जारी कर चुका है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एसबीआई के ग्राहकों के अकाउंट खाली किए जा रहे हैं. इसी को देखते हुए एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए चेतावनी जारी की है. अपनी चेतावनी में एसबीआई ने कहा है कि नए तरीके से चोर खाते से पैसे गायब कर सकते हैं. ग्राहक सावधान रहें.

बता दें कि एसबीआई ने अपनी चेतावनी में कहा है कि इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करने वाले ग्राहक फिशिंग अटैक से सावधान रहें. दरअसल फिशिंग अटैक के जरिए ग्राहकों की निजी जानकारी हैक करके इंटरनेट बैंकिंग के इस्तेमाल से उनके अकाउंट से पैसे चोरी किए जा रहे हैं. एसबीआई ने साफतौर पर कह दिया है कि बैंक के नाम से किसी प्रकार का कोई ई-मेल या मैसेज आता है तो उस पर या उसके साथ दिए किसी लिंक पर क्लिक ना करें.

दरअसल इन लिंक पर क्लिक करने से कुछ ऐसी वेबसाइट खुल जाती हैं जो ग्राहक की सारी जानकारी हैकर को पहुंचा देती है. हालांकि ग्राहक को पता भी नहीं चलेगा और वो इस नकली लिंक की वेबसाइट को असली समझ कर सारी जानकारी दे देंगे. इसलिए बैंक ने पहले ही सचेत रहने के लिए कहा है कि बैंक द्वारा कोई मेल नहीं भेजी जाती है इसलिए किसी भी लिंक पर क्लिक ना करें. बैंक कोई मैसेज या मेल तब भेजता है जब ग्राहक कोई ट्रांजेक्शन करता है.

SBI Eliminate Debit Card: डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए एसबीआई बंद करने जा रहा है डेबिट कार्ड

Bank Fraud Alert: अपनी मां का नाम किसी को ना बताएं, आसानी से की जा सकती है बैंक अकाउंट से चोरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App