लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी में बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन और 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. अखिलेश ने रविवार को कहा कि वो 2019 में किसी भी कीमत पर यूपी में बीजेपी को हराना चाहते हैं. जिसके लिए वो सीटें भी कुर्बान करने को तैयार हैं. अखिलेश ने कहा कि सपा 2019 में बीएसपी के साथ गठबंधन में ही चुनाव लड़ेगी. बीजेपी की हार के लिए वह सीटों में समझौता करने को भी तैयार हैं.

मैनपुरी के जौराई गांव में प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि हमारा बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन है और जारी रहेगा. अखिलेश यादव ने कहा कि वह भाजपा के प्रत्येक प्रत्याशी की हार देखना चाहते हैं और इसके लिए किसी के साथ भी गठबंधन को तैयार हैं. इसी क्रम में अखिलेश ने आगे कहा कि वो सीटों को लेकर भी समझौता करने को तैयार हैं. अखिलेश ने कहा कि अगर बीएसपी को ज्यादा सीटें देने से बीजेपी को आम चुनाव में हार मिलती है तो वह ऐसा करने के लिए तैयार हैं.

जौराई में सपा नेता हरिप्रसाद की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद अखिलेश यादव ने जनसभा की. जनसभा में अखिलेश ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा. अखिलेश ने कहा कि नेताओं को घर में उलझाकर भाजपा 2019 के लोकसभा चुनाव जीतना चाहती है. लेकिन भाजपाई भूल गए हैं कि सपाई जब मैदान में आएंगे तो बीजेपी कहीं नजर नहीं आएगी. अखिलेश ने निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से ध्यान हटाने की ताकत भाजपा के पास है. उप चुनाव के वक्त जिन्ना की बात की गई थी लेकिन वो काम नहीं आई. गुजरात चुनाव के वक्त खिलजी और रानी पद्मावती की बात की गई.

बता दें कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में सपा, बसपा और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ने जा रही है. इससे पहले खबरें आ रही थी कि सीटों के बंटवारे को लेकर यूपी में सपा- बसपा गठबंधन टूट सकता है, लेकिन अखिलेश के इस बयान ने इस प्रकार के सभी दावों को खारिज कर दिया है.

पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ की ईमानदारी की गारंटी ले सकता हूं, मंत्रियों की नहीं: बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण  

अखिलेश यादव की पीएम मोदी को चुनौती, वन नेशन वन इलेक्शन  से कराएं 2019 लोकसभा चुनाव

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App