नई दिल्लीः रूस ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सबसे बड़े सम्मान सेंट एंड्रयू द एपोस्टल (St Andrew The Apostle Order) ऑर्डर से सम्मानित करने का फैसला किया है. रूस ने शुक्रवार 12 अप्रैल को घोषणा की कि भारत और रूस के बीच रिश्तों में सुधार और द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के वास्ते उल्लेखनीय कार्य करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूस के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा जाएगा. पिछले महीने संयुक्त अरब अमीरात ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए प्रतिष्ठित जायद मेडल से सम्मानित किया था.

मालूम हो कि सेंट एंड्रयू द एपोस्टल ऑर्डरक रूस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है जिसे उल्लेखनीय काम करने वाले रूसी नागरिक और देश-विदेश के प्रमुख नेताओं को दिया जाता है. रूस में वर्ष 1698 में पहली बार इस अवॉर्ड की संकल्पना तय की गई थी. उस समय रूस सोवियत संघ के नाम से जाना जाता था. इसे सार पीटर द ग्रेट ने स्थापित किया था. इस अवॉर्ड को विश्वास और वफादारी की मिसाल के तौर पर देखा जाता है.

सेंट एंड्रयू को सम्मान देने के लिए उनके नाम पर इस अवॉर्ड का नाम रखा गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पहले चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को भी सेंट एंड्रयू द एपोस्टल ऑर्डर से सम्मानित किया जा चुका है. मालूम हो कि भारत की आजादी के बाद से ही भारत और रूस के संबंध काफी अच्छे रहे हैं. द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जब दुनिया दो गुटों में बंट गई थीं.

अमेरिका और यूएसएसआर यानी रूस के बीच शीत युद्ध शुरू हो गया था. उसी समय भारत भी आजाद हुआ था. आजादी के बाद से भारत और सोवियत संघ में मजबूत रणनीतिक, सैनिक, आर्थिक और राजनयिक संबंध रहे हैं. 1980 के दशक में सोवियत संघ के विघटन के बाद भी रूस और भारत के संबंध काफी अच्छे रहे. साल 2014 में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद रूस और भारत के संबंधों में मजबूती आई.

Arvind Kejriwal Attacks Narendra Modi: दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- क्या लोकसभा 2019 चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की मदद के लिए पाकिस्तान ने पुलवामा में मारे 40 जवान

Imran Khan on Narendra Modi BJP Govt: पाकिस्तान के पीएम इमरान खान बोले- नरेंद्र मोदी फिर प्रधानमंत्री बने तो कश्मीर पर शांति वार्ता की संभावना ज्यादा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App