नई दिल्ली. मंदिर वहीं बनाएंगे के नारे के साथ बुधवार को जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी कैंपस में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने संकल्प यात्रा निकाली. रैली जेएनयू कैंपस में सरस्वतीपुरम गेट से सुबह 9 बजे दाखिल हुई और कैंपस के रिंग रोड से होते हुए 10 बजे बाहर निकल गई. इस संकल्प यात्रा में एक ट्रक और 30 बाइक सवार थे.

टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, यूनिवर्सिटी के एक टीचर रोहित आजाद ने कहा, ”कैंपस में पहली बार मैंने इस तरह की रैली देखी है.” उन्होंने कहा, ”बाहरी लोगों को कैंपस में न सिर्फ एंट्री दी गई बल्कि वे लोग बड़े से ट्रक में 30 बाइक सवारों के साथ आए. सभी राम मंदिर के समर्थन में नारे लगा रहे थे. उनके हाथ में भगवा झंडे थे और म्यूजिक सिस्टम पर सांप्रदायिक गाने चल रहे थे.” जेएनयू छात्रसंघ ने इस घटना की निंदा करते हुए इसे परिसर में गैरकानूनी प्रवेश बताया. जेएनयूएसयू के अध्यक्ष एन साई बालाजी ने कहा, रैली करने वाले सरस्वतीपुरम गेट से जबरन घुस आए.

देखें वीडियो:

गार्ड्स ने बताया कि उनके पास रैली करने की कोई परमिशन नहीं थी. वहीं आरएसएस के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) ने जेएनयूएसयू पर पलटवार करते हुए कहा कि इस पर कोई आपत्ति नहीं उठाई जानी चाहिए क्योंकि ”अगर कोई लोकतांत्रिक तरीके से एेसी संकल्प यात्रा करता है तो यह उसका लोकतांत्रिक अधिकार है.”  बालाजी और अन्य छात्रसंघ सदस्यों ने वीसी जगादेश कुमार के पास शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने दावा किया कि सिक्योरिटी के पास रैली की कोई जानकारी नहीं थी और इस कारण कैंपस में रहने वाले 15 हजार लोगों की सुरक्षा से समझौता हुआ.

Ayodhya Babri Masjid 26th Demolition Anniversary: बाबरी विध्वंस के 26 साल पूरे, आज भी 6 दिसंबर 1992 को याद कर सिहर जाते हैं लोग

Upendra Kushwaha RLSP Leaving NDA: एनडीए से अलग हो सकती है RLSP, उपेंद्र कुशवाहा आज कर सकते हैं बड़ा ऐलान !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App