Monday, October 3, 2022

फ्लैट नहीं डिटेंशन सेंटर्स में रखे जाएंगे रोहिंग्या, मंत्री के बयान के बाद गृह मंत्रालय ने दी सफाई

नई दिल्ली, रोहिंग्या शरणार्थियों को बसाने पर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी के बयान ने इस मुद्दे पर फिर से हलचल पैदा कर दी है. अब गृह मंत्रालय ने भी पुरी के बयान पर सफाई दी है. मंत्रालय ने साफ किया है कि रोहिंग्या शरणार्थी डिटेंशन सेंटर्स में ही रहेंगे, बता दें इससे पहले हरदीप पुरी ने कहा था कि रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली में EWS फ्लैट्स में शिफ्ट किया जाएगा और वो वहीं रहेंगे.

गृह मंत्रालय ने क्या कहा ?

गृह मंत्रालय ने हरदीप पुरी के बयान पर सफाई देते हुए अपने बयान में कहा है कि मंत्रालय ने रोहिंग्या अवैध प्रवासियों को नई दिल्ली के बक्करवाला में EWS फ्लैट्स में रखने का कोई निर्देश नहीं दिया है. मंत्रालय ने बताया कि दिल्ली सरकार ने प्रस्ताव दिया था कि रोहिंग्याओं को नई लोकेशन पर शिफ्ट किया जाए, लेकिन इसपर गृह मंत्रालय ने दिल्ली सरकार को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि रोहिंग्याओं को मौजूदा लोकेशन कंचन कुंज (मदनपुर खादर) में ही रखा जाए.

गृह मंत्रालय ने बताया कि रोहिंग्याओं को मौजूदा जगह पर रखने की बात इसलिए कही गई है क्योंकि सरकार विदेश मंत्रालय के माध्यम से अवैध विदेशियों के निर्वासन के लिए संबंधित देशों से बातचीत कर रही है, इसलिए फिलहाल रोहिंग्याओं को डिटेंशन सेंटर्स में ही रखा जाएगा. लेकिन दिल्ली सरकार ने अब तक मौजूदा लोकेशन को डिटेंशन सेंटर घोषित नहीं किया है, हालांकि मंत्रालय ने ऐसा करने के निर्देश दे दिए हैं.

हरदीप पुरी ने क्या ट्वीट किया था?

यह मामला केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के ट्वीट के बाद चर्चा में आ गया. दरअसल, हरदीप पुरी ने ट्वीट कर कहा था कि भारत हमेशा उनका स्वागत करता है जिन्होंने देश में शरण मांगी है. पुरी ने आगे लिखा कि एक ऐतिहासिक फैसला करते हुए सभी रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली के बक्करवाला इलाके में EWS फ्लैटों में शिफ्ट किया जाएगा. उन्हें मूलभूत सुविधाएं, UNHRC आईडी और चौबीसों घंटे दिल्ली पुलिस की सुरक्षा दी जाएगी. हरदीप सिंह पुरी के इस ट्वीट के बाद ही हलचल बढ़ गई, जिसके बाद गृह मंत्रालय को सफाई देनी पड़ी.

 

जम्मू: सिदरा में एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत से सनसनी, जांच में जुटी पुलिस

Latest news