नई दिल्ली : भारत आज अपना 72वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुबह राजपथ पर पहुंच कर तिरंगा फहराया और बाद में राष्ट्रगान हुआ. जिसके बाद महामहिम को 21 तोपों की सलामी दी गई. हर साल की तरह इस बार भी राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह बड़ी धूम धाम से मनाया गया है. इस मौके पर समस्त भारत राजपथ पर आयोजित परेड में भारत की सांस्कृतिक विरासत और सैन्य ताकत की झलक देखने को मिली. इस दौरान वहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद हैं. बता दें कि इस साल गणतंत्र दिवस पर कोई चीफ गेस्ट यानी विदेशी मेहमान नहीं आए है. लेकिन इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर कुछ खास चीजें जरूर देखने को मिली हैं. आइए आपको बताते हैं वो कौन सी खास चीजें हैं.

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की पहली झांकी

इस साल के गणतंत्र दिवस परेड में सांस्कृतिक झांकियों का प्रदर्शन केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख की झांकी से शुरू किया गया. यह इस केंद्र शासित प्रदेश की पहली झांकी है. इसमें लद्दाख की संस्कृति और सांप्रदायिक सद्भाव को दर्शाया गया. झांकी की थीम-भविष्य का विजन है.

उत्तरप्रदेश की झांकि में राम मंदिर की झलक

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो चुका है. जिसके लिए चंदा अभियान भी चलाया जा रहा है. वहीं इस सास 72वें गणतंत्र पर उत्तरप्रदेश की झांकि की थीम अयोध्या के राम मंदिर पर बनाई गई थी. जिसके चलते सभी को राम मंदिर की एक झलक दिखने को मिली. इस झांकि में अयोध्या में दिपोत्सव भी दिखाया गया था.

राफेल का शानदार प्रदर्शन

72वें गणतंत्र दिवस परेड के दौरान भारत ने पहली बार राफेल लड़ाकू विमानों की उड़ान के साथ टी-90 टैंकों, समविजय इलेक्ट्रॉनिक युद्धक प्रणाली, सुखोई-30 एमके आई लड़ाकू विमानों समेत अपनी सैन्य शक्ति का प्रदर्शन किया है. गौरतलब है कि इस साल कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए गणतंत्र दिवस समारोह पर कई सारे बदलाव देखने को मिले है.

Free Coaching for UPSC Aspirants: योगी आदित्यनाथ का बड़ा ऐलान, प्रदेश में बसंत पंचमी से IAS-IPS-PCS के उम्मीदवारों को दी जाएगी फ्री कोचिंग

Mamata Banerjee Suvendu Adhikari Nandigram: शुभेंदु अधिकारी को नंदीग्राम तक समेटने में कामयाब होंगी ममता बनर्जी?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर