नई दिल्लीः 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में नोटबंदी की घोषणा की थी जिसमें 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने का ऐलान किया गया था. नोटबंदी के बाद से ही आरबीआई जमा किए जा रहे पुराने नोटों की गिनती में लग गया था. जिसके बाद विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर रहा था और 30 दिसंबर के बाद मोदी सरकार से और आरबीआई से यही सवाल पूछा जा रहा था कि कितने पुराने नोट वापस आए हैं. जिसके लगभग दो साल बाद आरबीआई ने इस सावाल का जवाब देते हुए बताया है कि मार्केट में 15.41 लाख करोड़ रुपये के पुराने नोट थे जिसमें से 15.31 लाख करोड़ रुपये यानी 99.30 प्रतिशत पुराने नोट वापस आ चुके हैं. आरबीआई के इस आंकड़े के सामने आने के बाद इस इस मामले में राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं.

नोटबंदी के करीब दो साल बाद आरबीआई द्वारा जारी आंकड़ों पर अब विपक्ष ने नया सवाल उठाया है कि नोटबंदी करने का क्या फायदा हुआ ?. विपक्ष द्वारा आरबीआई के आंकड़ों पर सवाल उठाते हुए पूछा जा रहा है कि अगर 99 प्रतिशत पैसा वापस आ गया है तो फिर नोटबंदी कराने का फायदा क्या हुआ? सरकार जिस काले धन को वापस लाने की बात कर रही थी वह कहां गया? आरबीआई के आंकड़ों के बाद विपक्ष सरकार पर और हमलावर हो चुका है जिसमें उनका कहना है कि नोटबंदी के चलते काला धन तो वापस नहीं आ सका लेकिन इससे देश की आम जनता को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा है. लेकिन सरकार इसे सफल बता रही है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरबीआई द्वारा जारी आंकड़ों पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि नोटबंदी अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है जिससे सबसे बड़ा नुकसान आम आदमी को हुआ 

कांग्रेस नेता तेहसीन पूनावाला ने आऱबीआई के आंकड़ों पर मोदी सरकार पर निशाना साधा है

आरबीआई के आंकड़ों पर असम कांग्रेस ने निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी से सकल घरेलू उत्पाद में 1% की कमी आई, कारोबार बंद हो गए, जीवन और नौकरियां खो गईं, देश अब सबसे ज्यादा अर्थव्यवस्था संकट से गुजर रहा है, जो अब कम से कम रुपये के साथ है।नोटबंदी सबसे बड़ा सरकारी घोटाला है. 

कांग्रेस नेता अरुण यादव नोटबंदी के बाद जारी आरबीआई आंकड़ों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि खोदा पहाड़ निकली चुहिया. 

कांग्रेस नेता अरविंद आरबीआई के आंकड़ों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मोदी सरकार के मास्टर स्ट्रोक की पोल खुल गई है. 

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आरबीआई के आंकड़ो पर कहा, याद रखें कि किसने कहा था कि 3 लाख करोड़ रुपये वापस नहीं आएंगे और यह सरकार के लिए एक लाभ होगा वो अब देख ले कि एक एक पैसा वापस आ चुका है. 

 

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि ज्यादातर यानी 99 प्रतिशत पुराने नोट बैंको में वापस आ चुके हैं जो स्पष्ट रूप से तात्पर्य है कि सिस्टम से शायद ही कोई काला धन निकाला गया था

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App