नई दिल्ली. ब्रटिश इंडियन सिंगर और रैपर हार्ड कौर ने कुछ दिन पहले अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया था. इस वीडियो में हार्ड कौर के खालिस्तानी समर्थकों के साथ नजर आ रही हैं और वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ अपशब्द कह रहें हैं. लंदन में शूट किए गए इस वीडियो में हॉर्ड कौर और खालिस्तानी समर्थक पीएम मोदी और अमित शाह को अपशब्द बोलते हुए कह रहे हैं कि वह इस 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस नहीं बल्कि खालिस्तानी झंडे फहराएंगे और रेफरेंडम 2020 को आगे बढ़ाएंगे. इस वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग हॉर्ड कौर को ट्रोल कर रहे हैं.

हार्डकौर जिस खालिस्तानी संगठन के साथ हैं वह संगठन भारत में बैन है और इस संगठन को पाकिस्तान और आईएसआई का समर्थन मिलता है. इससे पहले भी हार्ड कौर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के खिलाफ भी अपशब्दों को लेकर विवादों में आई हैं.

हालांकि अब सोशल मीडिया पर लोग उन्हें खरी-खोटी सुना रहे हैं. लोगों ने पीएम मोदी और अमित शाह को टैग करते हुए कहा है कि हार्ड कौर ने आईएसआई ज्वाइन कर लिया है और अब इसे इंडिया में न आने दें.

कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि हार्ड कौर और उसका ग्रुप जोकर का एक समूह है जो सोचते हैं कि वे गैंगस्टर हैं. मुझे लगता है कि किसी भी व्यक्ति को उन्हें गंभीरता से नहीं लेना चाहिए वह कोई इतने महत्वपूर्ण नहीं हैं. वहीं कुछ यूजर्स ने कहा कि बॉलीवुड भी इसे देख रहा है और हमें उम्मीद है कि वह इसे भारत नहीं आने देगा, भारत सरकार को भारत में हार्ड कौर के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाना चाहिए. ऐसे जहरीले सांपों को वीजा जारी करने की जरूरत नहीं है.

Hard Kaur Appeal In UN Against Sedition Case: रैपर हार्ड कौर ने भारत में अपने खिलाफ दर्ज देशद्रोह के मामलों का किया विरोध, भारतीयों पर रेप की धमकी का आरोप लगाते हुए यूएन में की शिकायत

Hard Kaur Supports Khalistan: देशद्रोह के मामले में घिरीं हार्ड कौर ने रैप सॉन्ग के जरिए जताया खालिस्तान रेफरेंडम 2020 के लिए समर्थन, देखें वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App