नई दिल्ली. अयोध्या राम मंदिर जैसे मुद्दे पर ऐतिहासिक फैसला देने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश रंजन गोगोई ने संसद में बतौर राज्यसभा सांसद शपथ ली. शपथ लेने के बाद पूर्व चीफ जस्टिस ने संसद में पूर्व राष्ट्रपति वैंकेया नायडु से मुलाकात की. पूर्व चीफ जस्टिस को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नॉमिनेट किया था.

रंजन गोगोई के राज्यसभा जाने को लेकर कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल हमलावर हैं और पूर्व जस्टिस पर तरह तरह के सवाल उठा रहे हैं. राज्यसभा में पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की शपथ के दौरान भी नाराज विपक्षी दल के नेता सदन से बाहर निकल गए.

रंजन गोगोई की शपथ ग्रहण के बाद नरेंद्र मोदी सरकार में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने उनका स्वागत किया. कानून मंत्री ने कहा कि अलग- अलग क्षेत्रों से प्रख्यात लोगों को राज्यसभा आना पुरानी परंपरा रही है, इनमें कई सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश भी शामिल हैं. रवि शंकर प्रसाद ने आगे कहा कि हमे भरोसा है आज शपथ लेने वाले रंजन गोगोई संसद में अपना पूरा योगदान देंगे.

MP Govt Crisis: मध्य प्रदेश में सियासी ड्रामा, कांग्रेस छोड़कर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने थामा बीजेपी का हाथ, संकट में कमलनाथ सरकार, शिवराज सिंह चौहान की वापसी के संकेत

Yogi Adityanath Govt Actions over Coronavirus: भारत में कोरोना वायरस ने थामा रोजगार, यूपी में दिहाड़ी मजदूरों के भरण पोषण का पैसा देगी योगी आदित्यनाथ सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App