रांची, आय से अधिक संपत्ति और मनरेगा घोटाला मामले में झारखंड की वरिष्ठ आइएएस अधिकारी और खनन विभाग की सचिव पूजा सिंघल और उनसे जुड़े लोगों के ठिकानों पर शनिवार को भी प्रवर्तन निदेशालय ने छापेमारी की, इस मामले में अब ईडी ने पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार को गिरफ्तार कर लिया है.

वहीं, सुमन कुमार के भाई पवन कुमार सिंह को भी हिरासत में लिया गया है, और उनसे पूछताछ की जा रही है. शुक्रवार को छापेमारी के दौरान सीए सुमन कुमार के घर से ईडी ने 19 करोड़ रुपये नकदी बरामद की थी.

कौन हैं पूजा सिंघल ?

पूजा सिंघल झारखंड की सीनियर आईएएस अधिकारी हैं, जो कि वर्तमान में उद्योग एवं खनन सचिव के पद पर कार्यरत हैं, इससे पहले पूजा बीजेपी सरकार में कृषि सचिव के पद पर थी. चर्चित मनरेगा घोटाले के समय भी पूजा खूंटी में डिप्टी कलेक्टर के बाद पर कार्यरत थीं.

अवैध खनन मामले में झारखंड की वरिष्ठ आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल व उनसे जुड़े व्यक्तियों के 20 ठिकानों पर से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे से छापेमारी शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक, ये ठिकाने झारखंड के रांची, खूंटी, राजस्थान के जयपुर, हरियाणा के फरीदाबाद व गुरुग्राम, पश्चिम बंगाल के कोलकाता, बिहार के मुजफ्फरपुर और दिल्ली एनसीआर में हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक़, पूजा सिंघल के आवास से ईडी ने भारी मात्रा में नकदी (करीब 18 करोड़) बरामद की है. ये पैसे पूजा और उसके पति के चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) के यहां से किए गए हैं.

पूजा सिंघल के सीए को गिरफ्तार किया जा चुका है. बता दें पूजा सिंघल विवादों को लेकर पहली बार चर्चा में नहीं हैं. इससे पहले भी उन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लग चुके हैं. पूजा जब खूंटी एवं पलामू जिले में डिप्टी कमिश्नर के पद पर कार्यरत थी, तब भी उन पर अनियमितता के आरोप लगे थे.

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर