पटना. लोकसभा चुनावों के लिए सभी प्रदेशों की पार्टियां जोरों से तैयारियों में लगी हुई हैं, बिहार में एनडीए सरकार को एक बड़ा झटका लगता हुआ नजर आ रहा है. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की बेटी आशा पासवान ने उनके खिलाफ बगावत कर दी है. आशा पासवान ने अपने पिता से नाराज हैं और उनके द्वारा बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर की गई टिप्पणी के लिए उन्होंने उनसे माफी मांगने को कहा है. इतना हीं नहीं अब यहां तक खबर है कि वह लोकसभा चुनाव में अपने पिता रामविलास पासवान की सीट हाजीपुर से चुनाव भी लड़ेंगी.

बिहार में लोकसभा चुनाव 2019 में रामविलास पासवान जदयू और बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे. इस चुनाव के लिए उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और इस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने एनडीए सरकार के गरीब सामान्य वर्ग के लिए किए गए 10 फीसदी आरक्षण को सही बताते हुए राजद पर निशाना साधा था. जिसमें उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा था कि वह सिर्फ अंगूठाछाप को मुख्यमंत्री बनाते और नारेबाजी करते रहते हैं.

उनकी इस बात से बेटी आशा देवी ने कहा कि पापा ने राबड़ी देवी की बेइज्जती की है और वह माफी मांगे नहीं तो में पटना में स्थित लोजपा के प्रदेश मुख्यालय के सामने धरना पर बैठेंगी. मेरी मां भी अनपढ़ थीं जिसके कारण उन्हें छोड़ दिया था. बता दें कि साल 1997 में राजद प्रमुख लालू प्रसाद को चारा घोटाला के मामले गिरफ्तारी किया गया था जिसके बाद उनकी जगह राबडी देवी को मुख्यमंत्री बनाया गया था. आशा पासवान रामिवलास की पहली पत्नी की बेटी हैं और रामविलास पासवान के दामाद अनिल कुमार साधु ने मीडिया से कहा है कि उनकी पत्नी इस बार चुनाव लड़ेगी. आशा रजद के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी और प्रदेश में पार्टी का प्रचार भी करेंगी.

LJP Chief Paswan Opposes Ordinance On Ram Temple: राम मंदिर पर RSS के खिलाफ खड़े हुए पासवान, बोले- सुप्रीम कोर्ट का फैसला अंतिम होना चाहिए

Ram Vilas Paswan Amit Shah Meet: रामविलास पासवान और चिराग पासवान की अमित शाह से बैठक खत्म, सीट बंटवारे पर गतिरोध अब भी कायम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App