नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश के नाम दिए संदेश में कहा कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के हटने से राज्य के लोगों को फायदा होगा और हम ये सुनिश्चित करेंगे कि जम्मू-कश्मीर की बेटियों को न्याय मिले. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि ‘मुझे भरोसा है कि हाल में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में जो बदलाव किए गए हैं उससे पूरे इलाके को फायदा मिलेगा. अभी तक जम्मू-कश्मीर के लोगों को वो सुविधाएं नहीं मिल रही थीं जो देश के बाकी नागरिकों को मिल रही थी.’

राष्ट्रपति कोविंद ने उन सुविधाओं और फादयों के बारे में बताया जो आर्टकिल 370 खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर की जनता को मिलने वाले हैं जिसमें उन्होंने खास तौर पर शिक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार और तीन तलाक आदि का जिक्र किया. गौरतलब है कि हाल ही में केंद्र सरकार ने केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म करने का एलान किया था, साथ ही साथ राज्यसभा में भी दो बिल पेश किए थे जिसमें जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांटकर उसे दो केंद्र शासित प्रदेश बना दिया था जम्मू-कश्मीर और लद्दाख.

आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद से घाटी में हालात तनावपूर्ण हैं. घाटी में कई जगहों पर धारा 144 लगी हुई है. जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, फारूख अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती गिरफ्तार हैं. बड़ीं संख्या में लोगों को नजरबंद किया गया है. सवा लाख से ज्यादा सुरक्षाबल घाटी में मौजूद हैं. सुरक्षाबलों की बड़ी संख्या की वजह से घाटी में अभी तक किसी तरह की कोई हिंसा की खबर नहीं आई है. पिछले दिनों पीएम नरेंद्र मोदी ने भी जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के नाम संदेश दिया था जिसमें उन्होंने ये भरोसा दिलाने की कोशिश की थी कि आर्टिकल 370 हटने के इस इलाके का विकास होगा और युवाओं को रोजगार के नए साधन मिलेंगे.

Imran Khan POK Jammu Kashmir Tension: पीओके में इमरान खान की गीदड़ भभकी- बड़ी कार्रवाई की तैयारी में भारत, ईंट का जवाब पत्थर से देगा पाकिस्तान

The Kashmir Files Movie Poster: द ताशकंद फाइल्स के बाद अब कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा पर द कश्मीर फाइल्स लेकर आ रहे हैं विवेक अग्निहोत्री, देखें दमदार पोस्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App