Ram Mandir Bhumi Pujan: अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन की शुभ घड़ी नजदीक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंच चुके हैं. सीएम योगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हनुमानगढ़ी पहुंच चुके हैं. राम मंदिर भूमिपूजन के ऐतिहासिक मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए अयोध्या में बड़े पैमाने पर तैयारी की गई थी लेकिन सुरक्षा कारणों को देखते हुए इसमें बदलाव किया गया है.

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वागत तैयारियों में बदलाव किया गया है. अब पीएम नरेंद्र मोदी का स्वागत शंखनाद से किया जाएगा. अब न ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तिलक लगाया जाएगा और न ही साफा बांधा जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हनुमानगढ़ में पूजा अर्चना कर राम मंदिर की आधारिशिला रखने के लिए निकल चुके हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को भगवान श्रीराम के जन्म मुहुर्त में भूमि पूज करेंगे. यह मुहुर्त कुल 32 सेकेंड का है. कुल 22 आचार्य तीन घंटे में पूजन संपन्न कराएंगे. ज्योतिषीय पक्ष के मुताबिक षोडश वरदानुसार 15 वरद में ग्रह स्थितियां अनुकूल हैं. इस समय पूज के शुभ परिणाम देंगे. पूरे वैदिक रीति रिवाज से पूजन करने में साढ़े तीन घंटे का समय लगता है. सभी कर्मकांड पूर्व तय यजमान द्वारा संपन्न होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम क्षण में स्पर्श कर भूमि पूजन और शिला पूजन की विधि पूर्ण करेंगे.

भूमि पूजन के मुख्य आचार्य काशी के विद्वान पंडित जयप्रकाश उपाध्याय हैं. उनके सहयोगी काशी के अरुण दीक्षित, कांची मठ के सेनापति शास्त्री, सुब्रमण्यम और मणिजी के अलावा अयोध्या के पंडित इंद्रदेव मिश्र व दिल्ली के चंद्रभानु शर्मा होंगे. पूजन में देशभर के कई स्थानों से बुलाए गए कुल 22 आचार्य शामिल होंगे. यह सभी रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष महंत गोंविद देव गिरी के निर्देशन में अनुष्ठान किया जाएगा.

Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan Live Updates: अयोध्या राम मंदिर के लिए मंत्रोच्यारण के बीच भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू

AIMPLB On Ram Mandir Bhumi Pujan: मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का राम मंदिर भूमि पूजन पर विवादित बयान- बाबरी मस्जिद थी और हमेशा रहेगी