लेह. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज लेह में किसान-जवान विज्ञान मेला में शामिल हुए. उन्होंने लेह में 26वें किसान-जवान विज्ञान मेला का उद्घाटन किया. उन्होंने इस कार्यक्रम में संबोधित करते हुए अपना पाकिस्तान के प्रति गुस्सा जाहिर किया. उन्होंने पाकिस्तान की और सख्ती के लहजे से निशाना साधते हुए कहा कि पाकिस्तान के पास कश्मीर को लेकर कोई गतिरोध नहीं है और कोई भी देश मौजूदा मुद्दे पर समर्थन नहीं कर रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को इस्लामाबाद द्वारा अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को रद्द करने के मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीयकरण करने के प्रयासों के जवाब में ये कहा. डीआरडीओ के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, राजनाथ सिंह ने पूछा कि जब पाकिस्तान आतंक का उपयोग कर भारत को अस्थिर करने की कोशिश कर रहा है तो भारत पाकिस्तान से कैसे बात कर सकते हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा, भारत, पाकिस्तान के साथ अच्छे पड़ोसी संबंध रखना चाहता है, लेकिन उसे पहले भारत को आतंक का निर्यात रोकना चाहिए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का कश्मीर पर कोई नियंत्रण नहीं है. मैं पाकिस्तान से पूछना चाहता हूं, कश्मीर उनका कब था? कश्मीर हमेशा भारत का हिस्सा था. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन और अत्याचारों पर ध्यान देना चाहिए. उन्होंने कहा कि अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क ओशो ने एक टेलीफोन पर बातचीत के दौरान उन्हें बताया कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों का हनन भारत का आंतरिक मामला था. मौजूदा मुद्दे पर कोई भी देश पाकिस्तान के साथ नहीं है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, मैं पाकिस्तान से पूछना चाहता हूं, कश्मीर कब पाकिस्तान का था कि उसको लेकर रोते रहते हो? पाकिस्तान बन गया तो हम आपके वजूद का सम्मान करते हैं. पाकिस्तान के पास इस मुद्दे में कोई हक नहीं है. उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि पीओके और गिलगित-बाल्टिस्तान पर पाकिस्तान का अवैध कब्जा है. ये वहां के लोगों की सुविधाओं और हक पर ध्यान दें.

Subramanian Swamy On POK: बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा गुलाम कश्मीर को भारत में मिलाने में मदद करे अमेरिका, नरेंद्र मोदी सरकार को दी करांची के लिए जल मार्ग बंद करने की सलाह

Satyapal Malik on Jammu Kashmir Condition: जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सामान्य बताए घाटी के हालात, बोले- 2 महीने में देंगे 50 हजार नौकरी, हर जिले में बनेगी ITI

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App