नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में भारत के लिए पहले राफेल लड़ाकू विमान को रिसीव किया. विजयदशमी के मौके पर राफेल को औपचारिक रूप से भारत के लिए लेने पर उन्होंने हथियारों की पूजा यानि शस्त्र पूजा की. राजनाथ सिंह हर साल विजयदशमी के मौके पर शस्त्र पूजा करते हैं. इस साल वो राफेल लेने के लिए फ्रांस में थे इसलिए उन्होंने फ्रांस में ही राफेल लेने के बाद ये पूजा की. इस पूजा के दौरान राजनाथ सिंह ने राफेल मिलने पर सबसे पहले उसपर ओम लिखा. इसके बाद उन्होंने राफेल पर रक्षा सूत्र बांधकर नारियल और फूल चढ़ाए. अंत में उन्होंने राफेल के पहिये के नीचे नींबू रखे. भारतीय परंपरानुसार हर नए वाहन के नीचे नींबू रखकर उसे चलाया जाता है.

राजनाथ सिंह ने परंपरागत तरीके से पूजा पूरी की. शस्त्र पूजा पूरे भारत में मनाई जाती है. हालांकि इसके रूप अलग-अलग हैं. ये दक्षिण भारत विजयदशमी के मौके पर मनाई जाती है वहीं और यह उत्तर भारत में मनाई जाने वाली विश्वकर्मा पूजा के समान है. इसमें किसी की आजीविका कमाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले किसी भी उपकरण की पूजा होती है. इसमें हथियारों के साथ, वाहन, कंप्यूटर और टाइपराइटर की भी पूजा होती है.

हालांकि भारत में राजनाथ सिंह की इस पूजा का मजाक भी बनाया गया. लोगों ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करके मीम्स के साथ मजाक उड़ाया लोगों ने सोशल मीडिया पर राफेल, राजनाथ सिंह और पूजा के कई मीम्स शेयर करे. लोगों ने फोटो शेयर करके लिखा कि अब राफेल पर भारतीय ट्रक की तरह लिखकर रखा जाएगा.

Also read, ये भी पढ़ें: Rajnath Singh Rafale Receiving Flying in France: फ्रांस में दिखा भारत का दम, विजयदशमी पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भरी राफेल विमान में उड़ान

वहीं कुछ लोगों ने मजाक उड़ाने वालों को जवाब भी दिया है. उन्होंने बताया है कि पूरे देशभर में वाहनों की पूजा होती है इसलिए राजनाथ ने जो पूजा की है उसका मजाक बनाना सही नहीं है. देखें लोगों के मीम्स और जवाब.

Indian Air Force Day 2019: आज है 87वां इंडियन एयरफोर्स डे, हिंडन एयरबेस पर अभिनंदन वर्तमान ने उड़ाया मिग विमान, पीएम नरेंद्र मोदी ने दी बधाई, जानें भारतीय वायु सेना के बारे में

Rajnath Singh Rafale Receiving, Flying in France Live Up: फ्रांस ने RB001 राफेल विमान भारत को सौंपा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शस्त्र पूजा के बाद भरी उड़ान

Al Qaeda Chief Asim Umar Dead: भारतीय उपमहाद्वीप अल-कायदा का प्रमुख, भारत में जन्मा असीम उमर अफगानिस्तान में मारा गया, चार साल पहले दी थी पीएम नरेंद्र मोदी को धमकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App