Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में जारी सियासत के बीच सचिन पायलट गुट को हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. दरअसल राजस्थान हाईकोर्ट ने सचिन पायलट गुट की याचिका पर लगातार तीसरे दिन सुनवाई करते हुए फैसला 24 जुलाई 2020 तक सुरक्षित रख लिया है. मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांती और न्यायाधीश प्रकाश गुप्ता की अदालत में सुनवाई करते हुए सचिन पायलट गुट की ओर दायर याचिका पर दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद पायलट गुट को फौरी तौर पर राहत दी है.

बता दें कि राजस्थान हाईकोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखने के साथ ही 24 जुलाई तक विधानसभा स्पीकर से नोटिस मामले में कार्रवाई पर रोग लगाने का आग्रह किया है. बीते 10 दिन से राजस्थान सरकर पर मंडरा रहे संकट के बादल तो मंगलवार को राजस्थान हाईकोर्ट में छंट गए लेकिन पायलट गुट को पूरी तरह से राहत नहीं मिली है. अंतिम फैसला 24 जुलाई को होना है. पायलट पायलट गुट की ओर से हाईकोर्ट में विधानसभा स्पीकर डॉ. सीपी जोशी की ओर से विधानसभा की सदस्यता खत्म किए जाने के नोटिस के खिलाफ याचिका दायर की थी.

शुक्रवार को सचिन पायलट गुट की ओर से वकील हरीश साल्वे ने लंदन से ऑनलाइन कोर्ट में दलीलें दी हैं. करीब डेढ़ घंटे की पैरवी के दौरान साल्वे ने फ्रीडम ऑफ स्पीच का हवाला देते हुए सचिन पायलट और अन्य 18 विधायकों को दिए गए नोटिस को खारिज करने की मांग की है. उनके बाद सचिन पायलट गुट की ओर से मुकुल रोहतगी ने कोर्ट के सामने अपना पक्ष रखा है.

राजस्थान में गहलोत सरकार पर आए सियासी संकट को 10 दिन बीत चुके हैं. गहलोत गुट के विधायक जहां जयपुर के एक होटल में ठहरे हुए हैं. वहीं पायलट गुट के विधायक हरियाणा के मानसेर में ठहरे हुए हैं. कांग्रेस कई बार सचिन पायलट को पार्टी के फोरम पर बात कहने की अपील कर चुकी है. इससे पहले कांग्रेस ने सचिन पायलट और बागी विधायकों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें उनके पद से हटा दिया गया था.

Delhi NCR Rain Update: दिल्ली-एनसीआर में झमाझम बारिश, दिन में छाया अंधेरा, अलर्ट जारी

Arvind Kejriwal Cabinet Decision: अरविंद केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, घर-घर राशन पहुंचाने वाली योजना को दी मंजूरी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर