जयपुर: राजस्थान में जारी सियासी उठापटक और राजनीतिक संकट के बीच प्रवर्तन निदेशालय ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन के कई ठिकानों पर छापेमारी की है. जानकारी के मुताबिक फर्टिलाइजर घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ये छापेमारी हो रही है. बताया जा रहा है कि ईडी यह छापेमारी देशभर में उनके और उनसे संबंधित लोगों के ठिकानों पर कर रही है. ईडी के एक अधिकारी के मुताबिक जांच एजेंसी राजस्थान, पश्चिम बंगाल, गुजरात और दिल्ली में कम से कम 13 स्थानों पर छापेमारी कर तलाशी कर रही है. उन्होंने बताया कि जोधपुर में अग्रसेन गहलोत के ठिकानों पर भी तलाशी ली जा रही है. इस कथित उर्वरक घोटाले के मामले में 7 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया जा रहा है.

खबर है कि सीमा शुल्क विभाग की शिकायत और आरोपपत्र के आधार पर ईडी ने कथित उर्वरक घोटाला मामले में आपराधिक मामला दर्ज किया है. राजस्थान में 6, गुजरात में 4, पश्चिम बंगाल में 2 और दिल्ली में एक स्थान पर पीएमएलए के तहत ईडी छापेमारी कर रही है.

गौरतलब है कि इससे पहले 13 जुलाई को आयकर विभाग ने एक आभूषण कंपनी के जयपुर सहित चार शहरों में मौजूद ठिकानों पर छापेमारी की है. दिल्ली, जयपुर और मुंबई में इनकम टैक्स विभाग ओम कोठारी समूह पर छापेमारी की थी जो अशोक गहलोत के करीबी बताए जाते हैं. आयकर विभाग ने जयपुर में राजीव अरोड़ा के आम्रपाली कार्यालय पर भी छापा मारा था. राजीव अरोड़ा राज्य कांग्रेस कार्यालय के सदस्य हैं। वहीं आयकर विभाग ने कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौर के कार्यालय और निवास सहित राज्य भर में कई स्थानों पर भी छापा मारा था.

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट गुट को 24 जुलाई तक का मिला समय, हाईकोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

Rajasthan Government Crisis Highlights: सचिन पायलट गुट की याचिका पर राजस्थान हाई कोर्ट में सुनवाई शुरू