जयपुर: राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच अब से कुछ देर में जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक होनी है. बैठक के लिए विधायकों का आना शुरू हो गया है. इस बैठक के लिए कांग्रेस पार्टी की ओर से व्हिप जारी किया गया है कि जो भी इस बैठक में नहीं आएगा, उसपर कड़ा एक्शन लिया जाएगा. इस बीच सचिन पायलट गुट का दावा है कि उनके समर्थन में तीस विधायक हैं, जो इस बैठक में शामिल नहीं होंगे.

एक तरफ सरकार गिरने की चिंता वहीं दूसरी तरफ आयरक विभाग और ईडी के छापे. आयकर विभाग के 200 से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों ने दिल्ली और राजस्थान के कई जगहों पर छापेमारी की है. अशोक गहलोत के करीबी धर्मेंद्र राठौड़ और राजीव अरोड़ा के ठिकानों पर की गई है. राजीव अरोड़ा राजस्थान कांग्रेस का आर्थिक मैनेजमेंट भी देखते हैं. सोमवार सुबह आयकर विभाग की टीम ने सीएम अशोक गहलोत के करीबी और ज्वैलरी फर्म के मालिक राजीव अरोड़ा के ठिकानों पर छापेमारी की. इस छापेमारी की सूचना स्थानीय पुलिस को नहीं दी गई बल्कि आयकर विभाग की टीम केंद्रीय रिजर्व पुलिस के साथ छापेमारी को अंजाम दे रही है.

धर्मेंद्र राठौड़ के घर और दफ्तर पर आयकर विभाग की टीम छापेमारी कर रही है. सूत्रों का कहना है कि राजीव अरोड़ा और धर्मेंद्र राठौड़ से देश और देश के बाहर किए गए लेन-देन के बारे में पूछताछ की जा रही है. इसके अलावा ईडी ने सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत के बिजनेस पार्टनर रविकांत शर्मा के घर और दफ्तर पर भी छापेमारी की है. कांग्रेस ने इस छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बताते हुए कहा कि ये सब अशोक गहलोत सरकार को अस्थिर करने की कोशिश है.

Rajasthan Government Crisis Highlights:

Highlights

आलाकमान का संदेश- आप पर स्नेह है, लौट आएं

पार्टी आलाकमान ने सचिन पायलट को मैसेज भेजा है कि हमारा आप पर स्नेह है. हम आपका सम्मान करते हैं. हम खुले दिल से आपका स्वागत करने के लिए तैयार हैं. प्लीज लौट आएं और बात करें.

सचिन पायलट के सुर अब भी बागी, कहा नहीं हुआ आलाकमान से बात

सचिन पायलट ने कहा है कि हमने कोई भी समझौते की शर्त नहीं रखी है, और किसी आलाकमान से उनकी बातचीत नहीं चल रही है. पायलट गुट का कहना है कि अशोक गहलोत के पास कांग्रेस के मात्र 84 विधायक हैं बाकी हमारे साथ हैं.

मीडिया के सामने विधायकों की पेशी

सीएम अशोक गहलोत के आवास पर मीडिया के सामने विधायकों की परेड कराई जा रही है. सोनिया गांधी, राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं. 109 विधायकों के सीएम आवास में मौजूद होने का दावा.

मीडिया के सामने विधायकों की पेशी

सीएम अशोक गहलोत के आवास पर मीडिया के सामने विधायकों की परेड कराई जा रही है. सोनिया गांधी, राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं. 109 विधायकों के सीएम आवास में मौजूद होने का दावा.

राज्य सरकार बहुमत खो चुकी है: राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पुनिया

सचिन पायलट राजस्थान के सीएम पद के लिए सही उम्मीदवार थे, लेकिन अशोक गहलोत ने कार्यभार संभाल लिया, तब से पार्टी में संघर्ष शुरू हो गया। आज जो हो रहा है, वह उसी संघर्ष का परिणाम है। राज्य सरकार बहुमत खो चुकी है: राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पुनिया

पहले भी हो चुकी है थर्ड फ्रंट बनाने की कोशिश

2018 विधानसभा चुनाव के दौरान नागौर के खींवसर से निर्दलीय हनुमान बेनीवाल ने राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) के नेता किरोड़ी लाल मीणा के साथ मिलकर राज्य में तीसरे मोर्चा खड़ा करने के काफी प्रयास किये थे लेकिन मीणा के राष्ट्रीय जनता पार्टी छोड़कर बीजेपी में आ जाने से तीसरे मोर्चे को लेकर किए गए प्रयास कमजोर पड़ गए थे

सचिन पायलट अपनी नई पार्टी का नाम प्रगतिशील मोर्चा या प्रगतिशील कांग्रेस रख सकते हैं

खबर आ रही है कि सचिन पायलट अपनी नई पार्टी का नाम प्रगतिशील मोर्चा या प्रगतिशील कांग्रेस रख सकते हैं. वहीं सचिन पायलट अगर थर्ट फ्रंट बनाने में सफल रहते हैं तो ऐसी स्थिति में वो बीजेपी के समर्थन से सरकार बनाने की कोशिश भी कर सकते हैं. लेकिन, क्या बीजेपी उनको मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार करेगी, यह अहम सवाल होगा.

अशोक गहलोत ने किया 30 विधायकों के समर्थन का वादा

सचिन पायलट ने कांग्रेस के 30 विधायकों के समर्थन का दावा किया है, अगर उन्हें इन विधायकों का साथ मिलता है और वो थर्ड फ्रंट बनाते हैं तो इससे गहलोत खेमे को नुकसान हो सकता है

तीसरा मोर्चा बना सकते है पायलट

कहा ये भी जा रहा कि सचिन पायलट तीसरा मोर्चा भी बना सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, पायलट की नई पार्टी का नाम प्रगतिशील मोर्चा या प्रगतिशील कांग्रेस हो सकता है.

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू, 90 विधायक शामिल

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू हो चुकी है. 90 विधायक बैठक में पहुंच गए हैं, जिनमें सचिन पायलट के समर्थक माने जाने वाले चार विधायक भी शामिल हैं. साथ की करीब दस निर्दलीय विधायक भी बैठक में पहुंच गए हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App