नई दिल्ली. आयकर विभाग ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी को असोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) से जुड़ी उनकी छिपी हुई आय को लेकर 100 करोड़ का टैक्स नोटिस भेजा है. आयकर विभाग ने कहा कि दोनों नेताओं की छिपी हुई आय संयुक्त तौर पर 300 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है. यह उस रकम से बहुत ज्यादा है, जिसकी उन्होंने साल 2011-12 में घोषणा की थी. इस अवधि के दौरान राहुल गांधी ने 68.12 लाख रुपये का इनकम टैक्स रिटर्न फाइल किया था.

लेकिन आयकर विभाग का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने एजेएल से जुड़ी अपनी 154.96 करोड़ रुपये की आय छिपाई है. वहीं यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने एजेएल से हुई 155.41 करोड़ रुपये की कमाई छिपाई है. आयकर विभाग ने यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड के शेयरधारक के तौर पर उनकी संबंधित आय पर टैक्स लगाया है.

इस साल मार्च में आयकर विभाग ने राहुल गांधी, सोनिया गांधी और ऑस्कर फर्नांडिस को नोटिस भेजा था. 2011-12 में यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से हुई आय घोषित नहीं करने को लेकर यह नोटिस भेजा गया था. आईटी विभाग ने कहा, राहुल गांधी ने यह सूचना दबाई कि वह साल 2010 से यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में डायरेक्टर के पद पर हैं, जिसके पास एजेएल का मालिकाना हक है. राहुल गांधी ने वित्तीय मूल्यांकन को फिर से खोले जाने को चुनौती दी थी. लेकिन 4 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने राहुल और सोनिया गांधी के टैक्स बकाए का फिर से मूल्यांकन करने की इजाजत आयकर विभाग को दी थी. विभाग ने कोर्ट में मूल्यांकान आदेश सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दिया है. इस मामले की सुनवाई कोर्ट में 29 जनवरी को होगी.

FIR On Anupam Kher: द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर को लेकर बिहार कोर्ट का आदेश- अनुपम खेर सहित 14 लोगों के खिलाफ दर्ज हो एफआईआर

Digvijay Singh Accusses BJP: दिग्विजय सिंह का आरोप, भाजपा ने मध्य प्रदेश सरकार गिराने के लिए विधायक को दिया 100 करोड़ रुपये का ऑफर

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App