नई दिल्ली. नोटबंदी और राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. पार्टी मुख्यालय में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी के कारण करोड़ों लोगों का रोजगार चला गया और मध्यम एवं लघु उद्योगों की कमर टूट गई. राहुल ने कहा कि नोटबंदी गलती नहीं बल्कि स्कैम था. प्रधानमंत्री को इस बारे में देश के युवाओं को बताना चाहिए. राहुल ने कहा, प्रधानमंत्री ने कहा था कि नोटबंदी से आतंकवाद और नकली नोटों पर लगाम लगेगी, लेकिन आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक 99.3 प्रतिशत नोट वापस बैंक में आ गए हैं. इससे न तो आतंकवाद रुका और न ही नकली नोट. आइए आपको बताते हैं राहुल गांधी के भाषण की 10 बड़ी बातें:

-राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि 15-20 उद्योगपतियों पर नॉन परफॉर्मिंग असेट था और आप लोगों का पैसा लेकर इन उद्योगपतियों को दिया गया. ये नोटबंदी का लक्ष्य था. राहुल ने कहा कि नोटबंदी के वक्त प्रधानमंत्री के ‘दोस्तों’ ने काले धन को सफेद करने का काम किया. राहुल ने कहा कि गुजरात के कॉरपोरेटिव बैंक, जिसके बीजेपी चीफ अमित शाह डायरेक्टर हैं, से 700 करोड़ रुपये के नोट बदले गए.

-राहुल ने प्रेस वार्ता में कहा, पीएम नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के जरिए देश की इकनॉमी की धज्जियां उड़ा दीं. छोटे दुकानदार और लघु एवं मध्यम बिजनेस वाले लोगों को इस बात का जवाब पीएम नरेंद्र मोदी से मांगना चाहिए कि उन्होंने उनका पैसा लेकर 15 सबसे अमीर लोगों को क्यों दिया. राहुल ने कहा कि नोटबंदी गलती नहीं थी बल्कि छोटे बिजनेस को बर्बाद करने का तरीका था.

-रिलायंस डिफेंस के मालिक अनिल अंबानी पर हमला करते हुए राहुल ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर मानहानि का मुकदमा किया है. लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने दोस्तों को फायदा पहुंचाने के लिए राफेल स्कैम किया.

-राहुल ने कहा कि भारत के सबसे बड़े उद्योगपति पीएम नरेंद्र मोदी की मार्केटिंग करते हैं और वह आम जनता का पैसा लेकर उन्हें देते हैं. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी और अरुण जेटली ने देश की इकनॉमी को बर्बाद कर दिया और कांग्रेस पार्टी ने देश चलाकर दिखाया है. राहुल ने कहा कि हमारे वक्त 2.5 लाख करोड़ एनपीए था, आज 12 लाख करोड़ रुपये एनपीए है.

-राफेल मामले पर राहुल ने कहा कि उन्होंने जेपीसी के गठन की बात कही थी, लेकिन वित्त मंत्री अरुण जेटली लंबे-लंबे ब्लॉग लिख रहे हैं, लेकिन उन्होंने मेरी बात पीएम मोदी तक नहीं पहुंचाई.

-राहुल ने यह भी कहा कि अनिल अंबानी ने कभी जहाज नहीं बनाया. उनके ऊपर 45 हजार करोड़ का कर्जा है. उन्होंने राफेल कॉन्ट्रैक्ट से कुछ ही दिन पहले कंपनी खोली. वहीं हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड पर कोई कर्जा नहीं है, 70 साल से विमान बना रही है. राहुल ने यह भी पूछा कि जो विमान 520 करोड़ का था उसे आपने 1600 करोड़ रुपये का क्यों खरीदा.

-प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल ने कहा कि जेपीसी का गठन किया जाना चाहिेए ताकि पूरे देश को मालूम चले कि पीएम मोदी और अनिल अंबानी के बीच क्या डील हुई है. भारत-फ्रांस राफेल डील समझौते को पढ़ते हुए राहुल गांधी ने कहा कि अगर विमान उसी कंफीगरेशन के होंगे, जिसे भारतीय वायुसेना ने मंजूर किया है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झूठ बोल रहे हैं.

-राहुल ने यह भी कहा कि पीएम ने बुलेट ट्रेन, किसानों की आय दोगुनी करने, 15 लाख रुपये हर भारतीय के खाते में जमा करने जैसे वादे किए थे, लेकिन अब हमें उनकी बात पर यकीन नहीं होता. राहुल ने कहा कि जब पीएम जब झूठ बोलते हैं तो हम उन्हें पकड़ लेते हैं.

-राहुल ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जिस बैंक के डायरेक्टर थे, उससे 700 करोड़ रुपये बदले गए. नोटबंदी से पहले बीजेपी ने कई जिलों में दफ्तर खरीदे. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर हमला बोलते हुए राहुल ने कहा कि वह कभी कहती हैं राफेल के दाम बताएंगे और फिर मना कर देती हैं. अचानक मालूम चलता है कि विमान के दाम तीन गुना बढ़ गए.

-राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने किसानों, महिलाओं और युवाओं को चोट पहुंचाई. काला धन, आतंकवाद कम नहीं हुआ. राहुल ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सिर्फ लोगों को लूटकर देश के अमीर लोगों की जेबें भरी हैं.

राहुल गांधी नोटबंदी राफेल डील प्रेस कॉन्फ्रेंस Highlights: नोटबंंदी से पीएम मोदी ने देश की इकोनॉमी को बर्बाद कर दिया

RBI का बयान- नोटबंदी में 500 और 1000 के 99.3% बैन नोट बैंक में लौटे, विपक्ष ने पूछा- काला धन कहां गया?

क्या है राफेल डील विवाद: कांग्रेस के आरोप, अनिल अंबानी, बीजेपी और नरेंद्र मोदी सरकार की सफाई

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App