नई दिल्ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संसद में अभिभाषण के दौरान मोबाइल चलाते हुए कैमरे में कैद होने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के नए अध्यक्ष की प्रक्रिया को लेकर कहा कि अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया में उनकी कोई भूमिका नहीं होगी. लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की बीजेपी नीत एनडीए से मिली करारी हार के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि पार्टी के नेताओं ने रोकना चाहा लेकिन राहुल इस्तीफे को लेकर अड़े हुए हैं जिसके बाद पार्टी में नए अध्यक्ष की तलाश चल रही है.

नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर राहुल गांधी ने आगे कहा कि वे नए कांग्रेस अध्यक्ष की प्रक्रिया में शामिल होकर इसे जटिल नहीं बनाना चाहते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि वे पार्टी के लिए बने रहेंगे और पार्टी के लिए काम करेंगे. वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अगले कांग्रेस अध्यक्ष बनने को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि अभी ऐसा कुछ नहीं है.

बता दें कि गुरुवार संसद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अभिभाषण दिया जिस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोबाइल फोन चलाते हुए नजर आए. राष्ट्रपति ने जब अभिभाषण शुरू किया तो पहले 24 मिनट राहुल गांधी मोबाइल में बिजी रहे जिसके बाद बगल में बैठीं अपनी मां सोनिया गांधी ने बातचीत करते रहे. सदन में बैठकर मोबाइल चलाते हुए राहुल गांधी का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है.

राहुल गांधी की इनकार के बाद कांग्रेस में नए अध्यक्ष की तलाश

राहुल गांधी इस्तीफा देकर वापस पार्टी अध्यक्ष पद संभालने को तैयार नहीं है. लोकसभा में भी कांग्रेस का नेता राहुल गांधी को नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल से सांसद अधीर रंजन चौधरी को बनाया गया है. राहुल गांधी का रुख देखते हुए पार्टी ने नए अध्यक्ष पद के लिए तलाश शुरू कर दी है. सूत्रों की मानें तो राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को नया अध्यक्ष बनाया जा सकता है क्योंकि वे पार्टी के पुराने और काफी अनुभवी नेता हैं. कहा तो ये भी जा रहा है कि अगर गहलोत को पार्टी का नया अध्यक्ष बनाया जाता है तो राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट को सूबे का मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है.

New Congress President Selection: कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ेंगे राहुल गांधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होंगे नए अध्यक्ष!

Congress Government Unemployment Allowance: खुशखबरी! कांग्रेस ने पूरा किया राहुल गांधी का वादा, राजस्थान में बेरोजगारों को अशोक गहलोत सरकार देगी 36 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता