Rahul Gandhi On Farm Bill: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कृषि बिल को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कृषि बिल के जरिए किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बना रहे हैं, जिसे देश कभी सफल नहीं होने देगा. राहुल ने कहा कि मोदी सरकार कृषि विरोधी काले कानून से किसानों को APMC/किसान मार्केट खत्म होने पर न्यूनतम समर्थन मूल्य कैसे मिलेगा. इस बिल में एमएसबी की गारंटी क्यों नहीं दी जा रही है.

राज्यसभा में रविवार को दो बिलों को पेश किया गया है. लोकसभा में ये बिल पहले ही पास किए जा चुके हैं. कांग्रेस, आप, बसपा और अकाली दल समेत कई विपक्षी पार्टियां इस बिल का विरोध कर रही हैं. इस बिल को लेकर बीजेपी के आगुवाई वाले एनडीए में पहले ही दरार पड़ गई है. बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी अकाली दल की सांसद कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने बिल के विरोध में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इसके साथ ही तेलंगाना के सीएम केसी राव ने अपनी पार्टी टीआरएस के सांसदों को सरकार द्वारा लाए जा रहे इस बिल का विरोध करने को कहा है.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक, 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020 आज राज्यसभा में पेश किया. उन्होंने कहा कि ये बिल किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि कुछ लोग बिल को लेकर लोगो में भ्रम फैला रहे हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने भी कृषि बिलों का विरोध किया है और इनके खिलाफ राज्यसभा में गैर बीजेपी दलों से वोट करने का आह्वान किया है. इसके साथ ही बसपा सुप्रीमों मायावती, टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने भी इस बिल का विरोध किया है. कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने कृषि बिल का राज्यसभा में विरोध किया है. साथ ही मोदी सरकार को किसान विरोधी बताया है.

Monsoon Session: कृषि बिल पर संजय राउत का PM मोदी से सवाल- क्या अफवाह में मंत्री ने इस्तीफा दे दिया

What is Farmers Bill: जिस किसान बिल पर पंजाब और हरियाणा में बवाल मचा है, आखिर वो है क्या?

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर