नई दिल्ली.  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को दुख व्यक्त किया कि राष्ट्रीय राजधानी में एक प्रतिष्ठित स्थल इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति ज्योति 50 साल बाद बुझ जाएगी। जबकि केंद्र सरकार की तरफ से कहा है कि लौ बुझेगी नहीं बल्कि उसका मर्जर होगा.

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘यह बड़े दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी वह आज बुझ जाएगी।
केंद्र में पर हमला बोलते हुए रहुल ने कहा कि कुछ लोग देशभक्ति और बलिदान को नहीं समझ सकते हैं – कोई बात नहीं हम अपने सैनिकों के लिए एक बार फिर अमर जवान ज्योति जलाएंगे।

अमर जवान ज्योति का उद्घाटन  इंदिरा गांधी ने किया था

सैन्य अधिकारियों ने गुरुवार को इस बात की पुष्टि की कि अमर जवान ज्योति की ज्वाला को बुझाकर नेशनल वॉर मेमोरियल में ज्वाला में मिला दिया जाएगा, जो इंडिया गेट के दूसरी तरफ सिर्फ 400 मीटर की दूरी पर है।

1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान शहीद हुए सैनिकों की याद में जलाई गई चिरस्थायी ज्योति शुक्रवार दोपहर को बुझाई जाएगी।
अमर जवान ज्योति का उद्घाटन 26 जनवरी 1972 को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का उद्घाटन 25 फरवरी, 2019 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उन सैनिकों और गुमनाम नायकों के स्मारक के रूप में किया गया, जिन्होंने आजादी के बाद से देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। स्मारक पर ग्रेनाइट की पट्टियों पर स्वर्ण अक्षरों में 25,942 सैनिकों के नाम अंकित हैं।

Amar Jawan Jyoti : इंडिया गेट के अमर जवान ज्योति की लौ राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में हमेशा के लिए समा जाएगी

India Corona Update Today : देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3.47 लाख से अधिक नये मामले, 703 की मौत

SHARE