नई दिल्ली. राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कांग्रेस चीफ राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर बीजेपी ने उनके खिलाफ अदालत की अवमानना का केस किया है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच 15 अप्रैल को इस पर सुनवाई करेगी. बीजेपी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी के खिलाफ यह मामला दर्ज कराया है. मीनाक्षी लेखी की ओर से पेश पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा, राहुल गांधी ने बयान में कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि चौकीदार चोर है.

दरअसल, राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मोदी सरकार की अर्जी खारिज कर दी थी. कोर्ट ने रक्षा मंत्रालय से ”चुराए गए दस्तावेजों” को मान्य बताया था. अब कोर्ट तारीख का ऐलान करेगा और उस दिन इस मामले पर सुनवाई होगी. मोदी सरकार ने इन दस्तावेजों पर विशेषाधिकार बताते कहा था कि इन दस्तावेजों को सबूत के तौर पर पेश नहीं किया जा सकता. राहुल गांधी ने कोर्ट के फैसला का स्वागत करते हुए कहा कि पूरा देश कह रहा है कि चौकीदार ने चोरी की है. यह सेलिब्रेशन का दिन है कि सुप्रीम कोर्ट ने न्याय की बात की है.

राहुल गांधी की इस टिप्पणी के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने उन पर जमकर निशाना साधा और उन्हें अदालत की अवमानना का आरोपी बताया. सीतारमण ने कहा कि राहुल गांधी ने कोर्ट के आदेश को गलत तरीके से पेश किया. उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला सिर्फ यहां तक सीमित था कि जिन दस्तावेजों को याचिकाकर्ताओं ने गैरकानूनी तरीके से हासिल किया था, क्या उन पर विचार किया जाएगा या नहीं. रक्षा मंत्री ने कहा था कि कोर्ट ने जो नहीं कहा वह बोलकर राहुल गांधी ने अपनी कुंठा जाहिर की है.

गुरुवार को कांग्रेस ने कहा था कि अगर वह 23 मई को सत्ता में आई तो राफेल सौदे की जेपीसी जांच कराने का आदेश देगी. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि दस्तावेज के तीन सेट हैं, जिन्हें सरकार कोर्ट से छिपाना चाहती है. उन्होंने कहा कि राफेल घोटाले को छिपाने के लिए मोदी सरकार ने झूठ बोला, कपट और चालाकी की.

Supreme Court Rafale Deal Heraing Political Reactions: राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट का झटका, भाजपा और पीएम मोदी को अरविंद केजरीवाल, मायावती और कांग्रेस ने सुनाई खरी-खरी

Supreme Court Rafale Deal Hearing: इन 10 पॉइंट्स से समझें राफेल डील की विवादों से बखेड़े तक की उड़ान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App