नई दिल्ली. विवादों में फंसी राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. राहुल ने ट्वीट कर दो सवाल उठाए और उनका एक जवाब दिया. राहुल ने लिखा, पीएम नरेंद्र मोदी राफेल विमान सौदे में जांच के डर से सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा की बर्खास्तगी की जल्दी में थे. ट्वीट में राहुल ने लिखा, पीएम नरेंद्र मोदी सीबीआई डायरेक्टर को हटाने की इतनी जल्दबाजी में क्यों हैं? वह सीबीआई चीफ को अपना मामला सिलेक्ट कमिटी के सामने पेश करने की इजाजत क्यों नहीं देते. जवाब है-राफेल.

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसमें नरेंद्र मोदी सरकार ने सीबीआई डायरेक्टर को छुट्टी पर भेज दिया था. लेकिन कोर्ट ने यह भी कहा कि वर्मा को अपना केस पीएम नरेंद्र मोदी, जस्टिस एके सीकरी और लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की सिलेक्ट कमिटी के सामने पेश करना होगा. तब तक वह कोई नीतिगत फैसले नहीं ले पाएंगे. सीबीआई डायरेक्टर पद पर वर्मा की बहाली पर खुशी जताते हुए राहुल ने मंगलवार को कहा था, राफेल मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को कोई नहीं बचा सकता.

उन्होंने आम जनता के 30 हजार करोड़ रुपये ”अपने दोस्त” अनिल अंबानी को दे दिए. मेरा सीधा सा सवाल है. जब पीएम मोदी ने राफेल सौदे को नजरअंदाज किया तो क्या भारतीय वायुसेना और रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने इस पर आपत्ति जताई? मैं हां या ना में जवाब चाहता हूं. न तो रक्षा मंत्री और न पीएम मोदी जवाब देने में समर्थ हैं. राहुल ने कहा कि देश जानना चाहता है कि मोदी ने कैसे 30 हजार करोड़ देकर अपने दोस्त की मदद की.

Rahul Gandhi On Alok Verma Plea Supreme Court Verdict: आलोक वर्मा मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोले राहुल गांधी- राफेल सौदे में नहीं बचेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

Rahul Gandhi Challenges PM Narendra Modi: राफेल सौदे को लेकर बरसे राहुल गांधी, पीएम नरेंद्र मोदी को दी 15 मिनट बहस की चुनौती

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App