नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल ने कोरोना संक्रमण को लेकर शुक्रवार को पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए वैक्सिनेशन ही सबसे बड़ा हथियार है। लॉकडाउन और मास्क ये सब टेंपरेरी चीज़े हैं। अगर इस वायरस को हराना है तो बड़ी मात्रा में टीकाकरण होना चाहिए।

राहुल गांधी ने कहा कि मैंने आपसे पिछले साल ही कहा था कि वैक्सीनेशन स्ट्रेटजी अपनाओ लेकिन आपने मजाक उड़ाया। आप बयान दे रहे थे कि हम कोरोना से जंग जीत गए हैं। उन्होंने कहा, मैं फिर कहता हूँ कि अभी खतरा टला नहीं है। आप प्रधानमंत्री हो। डरो मत, घबराओ मत, किसी पर गलती मत थोपो, दम दिखाओ, लीडर बनो, सामने आकर कहो कि कैसे भी करूंगा मैं करूंगा, मैं वैक्सीनेशन तेजी से करवाऊंगा।

कोविड नहीं मोविड

उन्होंने कहा कि, “जिस तरह अभी तक देश के पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ कदम उठाए हैं उससे कोरोना को और जगह मिल गई पैठ बनाने में। हिंदुस्तान के पीएम ने कोरोना के लिए जगह बनाई। ताली-थाली बजवाकर भीड़ इकट्ठा करवाई, चुनावी रैलियों में भाषण दिया और उनका वैक्सिनेशन की ओर कोई ध्यान नहीं था। इसलिए मैंने नरेंद्र मोदी जी के नाम का पहला अक्षर जोड़ते हुए कोविड को मोविड नाम दिया है।”

आपको कोरोना सभी तक समझ ही नहीं आया

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम को अभी तक कोरोना का नेचर ही समझ नहीं आया। जब संक्रमण फैल रहा था तब आप कुंभ मेला की इजाजत दे रहे थे। बंगाल में आप चुनावी रैली में लाखों लोगों को इकट्ठा कर रहे थे। वो सारे लोग बिना मास्क के आपकी रैलियों में आए और आप भी बिना मास्क के भाषण देने में व्यस्त थे।

CBSE 12th Exam Update : सीबीएसई-आईसीएससी 12वीं की परीक्षा पर सुप्रीमकोर्ट में सुनवाई टली, अब 31 मई को होगी सुनवाई

भारत नहीं एंटीगुआ- बरमुडा भेजा जाएगा भगोड़ा मेहुल चोकसी, डोमिनिका सरकार का फैसला