श्रीनगर, जम्मू कश्मीर के बडगाम में कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की आतंकियों द्वारा हत्या किए जाने से घाटी एक बार फिर सुलगने लगी है. घटना को लेकर कश्मीरी पंडितों आक्रोश है. नाराज कश्मीरी पंडितो ने जम्मू श्रीनगर हाईवे पर जाम लगा दिया है, साथ ही अनंतनाग समेत कई जगहों पर लोगों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए न्याय की मांग की है. इस घटना पर राहुल भट्ट के पिता ने सरकार से जांच की मांग की है. उधर, खबर आ रही है कि आतंकी संगठन कश्मीर टाइगर्स ने राहुल भट्ट पर हमले की जिम्मेदारी ली है.

दफ्तर में घुसकर की हत्या

राहुल भट्ट एक कश्मीरी पंडित बताए जा रहे हैं जो लंबे समय से राजस्व विभाग में काम कर रहे थे. गुरुवार को आतंकियों ने सरेआम तहसील दफ्तर में घुसकर उनपर गोलियां दाग दी. फिलहाल, सेना ने आतंकियों को ढूंढने के लिए इलाके में अपना तलाशी अभियान शुरू कर दिया है. सेना की पूरी कोशिश है कि उन आतंकियों को जल्द पकड़ा जाए.

कांग्रेस ने साधा निशाना

इस हमले के बाद एक बार फिर कांग्रेस केंद्र सरकार पर हमलावर हो गई है. कांग्रेस नेता अश्विनी हांडा ने जोर देकर कहा है कि केंद्र सरकार घाटी में कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा नहीं दे पा रही है. कश्मीरी पंडितों पर लगातार हमले किए जा रहे हैं, लेकिन फिर भी उन्होंने कोई सुरक्षा नहीं दी जा रही. ये हमला इसलिए भी मायने रखता है क्योंकि पिछले कई दिनों में घाटी के अंदर अधिकारियों से लेकर सरपंच तक को आतंकियों ने अपना निशाना बनाया है.

रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि इस सयम घाटी में आतंकियों के खिलाफ सेना की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है. आतंकियों के नेटवर्क ध्वस्त किए जा रहे हैं, कमांडर मारे जा रहे हैं, इसी वजह से बौखलाहट में आतंकी ऐसी कायराना हरकतों को अंजाम दे रहे हैं. कुछ दिन पहले जम्मू कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षबलों की आतंकियों के साथ 10 घंटे तक मुठभेड़ चली थी, जिसमें लश्कर-ए-तैयबा संगठन के दो आतंकवादियों को मार गिराया गया था.

 

ज्ञानवापी केस: वाराणसी न्यायालय का फैसला- नहीं हटाए जाएंगे कोर्ट कमिश्नर, 17 मई से पहले दोबारा सर्वे

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर