वाशिंगटन: आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने नोटबंदी और जीएसटी को देश के आर्थिक विकास में ऐसी अचड़न बताया है जो भारत के विकास को रोकेगी. शुक्रवार को कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में आयोजित द्वितीय भट्टाचार्य व्याख्यान में रघुराम राजन ने कहा कि ‘नोटबंदी और जीएसटी के दो लगातार झटकों ने देश की आर्थिक वृद्धि पर गंभीर असर डाला. देश की वृद्धि दर ऐसे समय में गिरने लग गयी जब वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर गति पकड़ रही थी.’

उन्होंने ये भी कहा कि 2012 से 2016 के बीच चार साल के दौरान भारत की आर्थिक वृद्धि काफी तेज रही लेकिन उसके बाद से अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ गई. राजन ने कहा कि भारत अब काफी खुली अर्थव्यवस्था है अगर वैश्विक अर्थव्यवस्था में वृद्धि होती है तो भारतीय अर्थव्यवस्था भी बढ़ेगी. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि 2017 में उल्टा हुआ और वैश्विक अर्थव्यवस्था के बढ़ने के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था की रफ्तार सुस्त रही जिसकी वजह उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी को बताया.

रघुराम राजन ने कच्चे तेल की कीमतों को लेकर कहा कि कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने से घरेलू अर्थव्यवस्था के को थोड़ी परेशानी होगी. दूसरी तरफ नोटबंदी की दूसरी सालगिरह पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी से प्रलय की भविष्यवाणी करने वाले लोग गलत साबित हुए हैं. उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों का आंकड़ा बताता है कि अर्थव्यवस्था पहले के मुताबिक ज्यादा औपचारिक हुई है और लगातार पांचवें साल भारत सबसे तेजी से वृद्धि करने वाली मुख्य अर्थव्यवस्था बना हुआ है.

Rahul Gandhi target on PM Narendra Modi and Raman Singh in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में पीएम नरेंद्र मोदी और रमन सिंह पर गरजे राहुल गांधी, बोले- आदिवासियों से जमीन छीनकर कारोबारियों को दे दी

MP Elections Opinion Poll: इंडिया टीवी, इंडिया टु़डे और एबीपी मध्य प्रदेश ओपिनियन पोल: कांग्रेस पिछड़ी, बीजेपी आगे, फिर बनेगी शिवराज सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App