नई दिल्ली. भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में जापान की ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 के स्कोरलाइन से हराया. इसके साथ ही उन्होंने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब जीता और इस खिताब के बाद उन्होंने उनकी आलोचना करने वालों का करारा जवाब दिया है. पीवी सिंधु ने कहा कि पिछले दो विश्व चैम्पियनशिप फ़ाइनल में शीर्ष पर न रहने के लिए उनकी जमकर आलोचन की गई थी. आलोचना के बाद में बुहता गुस्सा हुई थी और मुझे दुख भी महसूस हुआ था. अब यह स्वर्ण पदक उन सभी आलोचकों का जवाब है जिन्होंने मुझसे सवाल किया था.

बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (BWF) की आधिकारिक वेबसाइट ने सिंधु के हवाले से लिखा, यह उन लोगों के लिए मेरा जवाब है जिन्होंने मुझसे बार-बार सवाल पूछे हैं. मैं इस जीत के साथ जवाब देना चाहती थी. पहले विश्व चैंपियनशिप के फाइनल के बाद मुझे बहुत बुरा लगा और पिछले साल मैं गुस्से में थी और मैं दुखी थी. इतमा ही नहीं मैं अपने करियर में कई सारी भावनाओं से गुजरी. जब मुझसे पूछा गया कि तुम यह एक मैच क्यों नहीं जीत पाईं, लेकिन आज आया और मैंने खुद को अपना खेल खेलने के लिए कहा और चिंता नहीं की और यह काम मेरी एक विशाल जीत में बदल गया.

हर कोई मुझसे यह जीत चाहता था, रियो ओलंपिक के रजत पदक के बाद, मुझसे उम्मीदें बहुत अधिक हैं. सिंधु ने कहा कि जब भी मैं किसी टूर्नामेंट में जाती हूं, हर कोई मुझसे स्वर्ण जीतने की उम्मीद करता है. एक साल के बाद मैंने यह भी सोचा कि मुझे इसके लिए क्या करना चाहिए और दूसरों के बारे में सोचने के बजाय, मैंने सोचा कि मुझे बस अपने लिए खेलना चाहिए और अपना 100 प्रतिशत देना चाहिए और अपने आप जीत जाती हूं क्योंकि दूसरों के बारे में सोचने से मुझ पर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा.

साल 2020 में टोक्यो में होने वाले खेल के बारे में लोग पहले से ही पूछ रहे हैं और उनकी उम्मीद भी स्वर्ण पदक हैं. मुझे पता है कि ओलंपिक योग्यता जा रही है इसलिए मुझे आशा है कि मैं अच्छा करूंगी. इसके साथ ही उन्होंने लास्ट में कहा- बैडमिंटन मेरा जुनून है और मुझे लगता है कि मैं अधिक खिताब जीत सकती हूं.

PV Sindhu World Badminton Championship WBC Gold Winner: पीवी सिंधू ने तोड़ा फाइनल हारने का क्रम, क्यों खास है वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप का गोल्ड मेडल

PV Sindhu World Badminton Championship WBC Gold Winner: भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब जीता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App