Punjab Roadways Employees Strike: पंजाब रोडवेज को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. दरअसल राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाली पंजाब रोडवेज के करीब 3 हजार कर्मचारी अपनी मांगो को लेकर 3 दिन की हड़ताल पर चले गए हैं. आज यानी 2 जुलाई 2019 से लेकर 4 जुलाई 2019 तक पंजाब में रोडवेज बसों के पहिए थमें रहेंगे. बसो की आवाजाही बंद होने से यात्री काफी परेशान है. राज्यभर में रोडवेज कर्मी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

बता दें कि पंजाब रोडवेज के कर्मचारी अपनी नौकरी को रेगुलर करने की मांग कर रहे हैं. साथ ही उनकी सैलरी बढ़ाने जैसी दूसरी कई मांगे हैं. पंजाब रोडवेज के कर्मचारियों की हड़ताल के चलते राज्य के कई शहरों में बसों की आवाजाही बिल्कुल ठप सी हो गई है. बसे नहीं चलने से हर रोज सफर करने वाले लोगों को इधर उधर भटकना पड़ रहा है.

पंजाब के जिन शहरों में रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के चलते यात्रियों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है उनमें लुधियाना, जालंधर, पटियाला, अमृतसर, बठिंडा, फिरोजपुर और मोगा शामिल है. पंजाब रोडवेज के अधिकारियों के मुताबिक हड़ताल के चलते अंतर्राज्यीय बस सेवाए भी प्रभावित हुई हैं. रोडवेज के वरिष्ठ अधिकारी कर्मचारियों को मनाने का प्रयास कर रहे हैं.

पंजाब रोडवेज कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन के प्रमुख शमशेर सिंह का कहना है कि सरकार कांट्रेक्ट कर्मचारियों को रेगुलर करने के अपने वादे से मुकर रही है. जो एक्ट साल 2016 में पिछली सरकार ने बनाया था, उसे तोड़ने मरोड़ने का काम कर रही है. पंजाब रोडवेज कर्मचारी वन रैंक वन सैलरी की मांग भी कर रहे हैं. जनरल सचिव भगत सिंह ने बताया कि तीन जुलाई को राज्य के ट्रांसपोर्ट मंत्री या मुख्यमंत्री के घर के सामने रोष रैली निकाली जाएगी. अगर पुलिस, सरकार या रोडवेज अधिकारियों की ओर से हड़ताली कर्मचारियों को दबाने की कोशिश की गई तो हड़ताल अनिश्चित समय के लिए की जाएगी.

PM Narendra Modi In BJP Parliamentary Board Meeting: बीजेपी संसदीय दल की बैठक में बीजेपी के बल्लामार विधायक आकाश विजयवर्गीय पर भड़के पीएम मोदी, कहा- आकाश पर कार्रवाई होनी चाहिए

Home Minister Amit Shah Rajya Sabha Speech Video: जम्मू-कश्मीर में 6 महीने और राष्ट्रपति शासन, राज्यसभा से गृहमंत्री अमित शाह ने दी अलगाववादियों को चेतावनी, जो कश्मीर को तोड़ने की बात करेगा, उसे मिलेगा करारा जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App