पटाया. एडवेंचर की शौकीन शीतल महाजन राणे ने साड़ी पहनकर 13 हजार फीट की ऊंचाई से स्काई डाइविंग कर एक और इतिहास रच दिया है. शीतल महाजन ने थाईलैंड में इस कारनामे को अंजाम दिया है. शीतल महाजन ने स्काई डाइविंग के वक्त रंगीन नौवारी साड़ी पहनी थी जिसे आमतौर पर संभालना भी काफी मुश्किल होता है. नौवारी साड़ी मुंबई की मशहूर है जिसकी लंबाई भी आम साड़ियों से काफी ज्यादा होती है. शीतल ने जो साड़ी पहनी थी उसकी लंबाई करीब 8.25 मीटर थी.

भारत का चौथा सबसे बड़ा सम्मान पद्मश्री से सम्मानित इस एजवेंचर की शौकीन खतरों की खिलाड़ी ने कई नेशनल और इंटरनेशनल पुरस्कार अपने नाम किये हैं. साड़ी पहनकर स्काई डाइविंग का अपना अनुभव साझा करते हुए शीतल महाजन ने मीडिया को बताया कि यह साड़ी आम भारतीय साड़ियों से काफी लंबी है जिसे संभालना काफी मुश्किल होता है. अपनी पहली लैंडिंग में मैं थोड़ा लड़खड़ाई थी लेकिन सुरक्षित तरीके से अंजाम दिया. शीतल ने कहा कि पहले साड़ी पहनना, इसके ऊपर पैराशूट पहनना, फिर सेफ्टी गियर, संचार सामग्री, हेलमेट, गोगल्स, जूते इत्यादि पहनने व लगाने ने स्काइडाइविंग को चुनौतिपूर्ण बना दिया था.

शीतल ने कहा कि अनुकूल मौसम होने की वजह से वह विश्व प्रसिद्ध पर्यटक रिजॉर्ट पटाया के ऊपर एक विमान से लगभग 13 हजार फीट की ऊंचाई से दो बार छलांग लगाने में सफल रहीं. शीतल ने कहा कि मैं अगले महीने आने वाले अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कुछ अलग करना चाहती थी, इसलिए मैंने अपने स्काइडाइविंग के लिए नौवारी साड़ी पहनने का निर्णय लिया. इसके लिए उन्होंने साड़ी में कई जगह पिन लाई थीं जिससे खाड़ी की तेज हवाओं से मुकाबला किया जा सके. शीतल लंबे समय से स्काई डाइविंग करती रही हैं. उन्होंने 2008 में अपनी शादी भी जमीन से करीब 700 फीट ऊपर हॉट एयर बैलून से उड़ान भरते हुए की थी. यह शादी भी काफी मशहूर हुई थी और अनेकों मीडिया चैनल्स ने इसे कवर किया था.

जिन भारतीय महिलाओं को साड़ी बांधनी नहीं आती, उन्हें शर्म आनी चाहिए: सब्यसाची

भारत में हुए इन दस बेहतरीन अविष्कारों के बारे में जानकर आप भी गर्व से कहेंगे मेरा भारत महान 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App