नई दिल्ली. टेंसेंट गेम्स और पबजी कोरपोरेशन के PUBG वीडियो गेम का क्रेज युवाओं से लेकर बच्चों तक पर जमकर चढ़ा है. हालात, ऐसी हैं कि कई जगह पबजी बैन की भी मांग की जा चुकी है. प्लेयर्स पबजी को इतने जुनून से खेलते हैं कि कई बार खुद की जान भी मुश्किल में डाल लेते हैं. ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश के गुना से सामने आया, जहां एक अमीर कारोबारी परिवार के 4 बच्चे चचेरे भाई बहन ( 15 और 13 साल की दो लड़कियां, 11 और 9 साल के दो लड़के) पबजी में मिशन पूरा करने के लिए 1 लाख रुपए चुराकर 250 किलोमीटर दूर ग्वालियर शहर पहुंच गए.

मिली जानकारी के अनुसार, घरवालों की चोरी से बच्चे देर रात चुपचाप निकल गए. और सीधा गुना रेलवे स्टेशन से ट्रेन में सवार हो गए. सुबह जब परिवार के लोगों की नींद खुली तो सभी बच्चों को गायब देख उनके होश उड़ गए. आनन-फानन में परिवार ने पुलिस को बच्चों के गायब होने की सूचना दी. बच्चों की गायब होने की खबर मिलती है पुलिस ने शहर समेत आसपास के जिलों के बस स्टेशन और रेलवे स्टेशनों पर अलर्ट जारी कर दिया. सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई, साथ ही रेलवे पुलिस को भी अलर्ट किया गया. और कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने चारों बच्चों को ग्वालियर से बरामद कर लिया.

ग्वालियर में जब पुलिस ने उनसे ग्वालियर आने की बात पूछी तो बच्चों ने कहा कि वे एक मॉल का एड देखने के बाद यहां घूमने आए. हालांकि पुलिस ने उनकी बातों पर विश्वास नहीं किया. पुलिस अधिकारी के अनुसार, बच्चे समृद्ध परिवार से दिख रहे थे इसलिए विश्वास करना मुश्किल था कि सिर्फ मॉल घूमने के लिए वे घर से 250 किमी दूर आए हों. गुना पुलिस अधीक्षक राहुल लोढ़ा ने बताया कि असल में चारों बच्चे पबजी गेम के मिशन को पूरा करने 500 किलोमीटर की यात्रा पर निकले थे. बच्चे किसी भी कीमत पर मिशन को पूरा करना चाहते थे.

PUBG Mobile India Tour 2019: करोड़पति बनाएगा पबजी मोबाइल इंडिया टूर 2019 टूर्नामेंट, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

PUBG Mobile Star Challenge 2019: पबजी खेलो और बन जाओ करोड़पति, 1 जुलाई से शुरू हो रहा PUBG मोबाइल स्टार चैलेंज 2019

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर