नई दिल्ली/ इस्लामाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत और पाकिस्तान के बीच बंद वार्ता की बहाली के संकेत देते हुए पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत को पाकिस्तान से .  सूत्रों के मुताबिक पत्र में नरेंद्र मोदी ने ये भी लिखा है कि भारत पाकिस्तान से शांतिपूर्ण पड़ोसी संबंधों के लिए प्रतिबद्ध है. मोदी ने इमरान खान से दक्षिण एशिया को आंतकवाद से मुक्त करने में साथ काम करने की अपील की है.
पाकिस्तान की नई इमरान खान सरकार के नए विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा, “भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम इमरान खान को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू होने के संकेत दिए हैं.
भारत और पाकिस्तान को सच्चाई को ध्यान में रखकर आगे बढ़ना चाहिए.” भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से कुरैशी ने मीडिया के जरिए कहा, “मैं भारतीय विदेश मंत्री को बताना चाहता हूं कि हम दोनों सिर्फ पड़ोसी नहीं हैं बल्कि परमाणु शक्ति संपन्न देश हैं. हमारे पास बहुत सारे साझे संसाधन हैं. लंबे समय से हमारे कई विवाद हैं.
हम दोनों इन समस्याओं को जानते हैं. लेकिन हमारे पास बातचीत के अलावा कोई विकल्प नहीं है. खतरों से खेलने का रिस्क हम नहीं ले सकते.” मुंबई हमलों के समय भी पाकिस्तान के विदेश मंत्री रहे महमूद कुरैशी ने कश्मीर राग अलापते हुए कहा कि दोनों देशों को मानना होगा कि दिक्कतें हैं, हमें मानना होगा कि कश्मीर एक सच्चाई है और इस्लामाबाद घोषणा हमारे इतिहास का हिस्सा है.
पीएम नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के संसदीय चुनावों में इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की जीत पर भी इमरान खान को फोन करके बधाई दी थी और उम्मीद जताई थी कि पाकिस्तान में लोकतंत्र की जड़ें गहरी और मजबूत होंगी. मोदी ने इमरान खान से कहा था कि सारे पड़ोसी देशों के साथ शांति और विकास उनका विजन है. इमरान खान ने भी भारत से दोस्ताना रिश्ते की ख्वाहिश जताई है और कहा है कि अगर वो एक कदम बढ़ाते हैं तो हम दो कदम बढ़ेंगे लेकिन उसके लिए शुरुआत की जरूरत है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App