नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनसंघ से जुड़े रहे समाजसेवी नानाजी देशमुख और गायक भूपेन हजारिका को भारत रत्न सम्मान देने का फैसला किया है. प्रणब मुखर्जी के अलावा नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका दोनों को भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवजाने का फैसला गणंतत्र दिसव की पूर्व संध्या पर सामने आया है. 1954 में शुरू हुआ भारत का ये सबसे बड़ा सम्मान अब तक 45 लोगों को दिया जा चुका है. आखिरी बार भारत रत्न 2015 में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को उनके रहते और मदन मोहन मालवीय को मरणोपरांत दिया गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके भारत रत्न विजेताओं के प्रति अपना सम्मान जाहिर करते हुए एक के बाद एक तीन ट्वीट किए हैं.

  1. पहले ट्वीट में पीएम मोदी ने ग्रामीण विकास में नानाजी देशमुख के योगदान को याद करते हुए लिखा है कि कमजोर तबकों की सेवा करने वाले वो सच्चे भारत रत्न हैं.
  2. दूसरे ट्वीट में गायक भूपेन हजारिका के सम्मान में पीएम मोदी ने लिखा है कि भूपेन हजारिका के गीत-संगीत पीढ़ियों के बीच प्रेरणा का स्रोत है, उनसे न्याय, सौहार्द और भाईचारा का संदेश मिलता है.
  3. प्रणब दा के लिए पीएम मोदी ने लिखा है कि हमारे समय के एक स्टेट्समैन हैं प्रणब मुखर्जी जिन्होंने देश की दशकों से बिना स्वार्थ के बिना थके सेवा की है.
  4. भारत रत्न नानाजी देशमुखः 11 अक्टूबर को महाराष्ट्र में पैदा हुए नानाजी देशमुख समाजसेवी थे. वह भारतीय जनसंघ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े हुए थे. अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया. अटलजी के कार्यकाल में ही भारत सरकार ने उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य व ग्रामीण स्वालंबन के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था. नानाजी देशमुख का 27 फरवरी को 2010 को निधन हो गया था. नानाजी देशमुख बाल गंगाधर तिलक को अपना आदर्श मानते थे. उन्होंने उत्तर प्रदेश में आरएसएस प्रचारक के रूप में काम किया था.
  5. भारत रत्न प्रणब मुखर्जीः भारत के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे प्रणब मुखर्जी का 11 दिसंबर 1935 को बंगाल में जन्म हुआ था. वह 2012 से 2017 तक भारत के राष्ट्रपति रहे. उन्होंने कांग्रेस की सरकार में विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और वित्त मंत्री का पदभार संभाला था. प्रणब मुखर्जी ने किताब ‘द कोलिएशन ईयर्स: 1996-2012’ भी लिखा है. प्रणब मुखर्जी का राजनीतिक करियर वर्ष 1969 में कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा सदस्य के रूप में शुरू हुआ था. प्रणब 1975, 1981, 1993 और 1999 में फिर से राज्यसभा सांसद चुने गए. वर्ष 1973 में वह औद्योगिक विकास विभाग के केंद्रीय उप मंत्री के रूप में इंदिरा मंत्रिमंडल में शामिल हुए थे. प्रणब ने एक बार कांग्रेस का भी साथ छोड़ दिया था. हालांकि बाद में वह कांग्रेस में वापस आ गए थे.
  6. भारत रत्न भूपेन हजारिका: फेमस सिंगर भूपेन हजारिका का असम में 8 सितंबर 1926 को जन्म हुआ था. उन्होंने सिंगर, गीतकार, संगीतकार, कवि और फिल्ममेकर के तौर पर काफी पॉप्युलैरिटी हासिल की थी. 5 नवंबर 2011 को भूपेन हजारिका का निधन हो गया. उन्होंने बंगाली और हिंदी में सैकड़ों गाने गाए थे. भूपेन हजारिका को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, पद्म श्री, पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था. उन्होंने फिल्म गांधी टू हिटलर में महात्मा गांधी का पसंदीदा भजन वैष्णव जन गाया था. दिल हूम हूम करे और ओ गंगा तू बहती है क्यों भूपेन हजारिका ने ही गाए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App