पुणे. डॉ. भीमराव अंबेडकर की 127वीं जयंती के मौके पर उनके पौत्र प्रकाश अंबेडकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया. उन्होंने कहा कि मैं पुलिस को बताना चाहता हूं कि आप हमें नक्सली कह सकते हैं लेकिन इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है. हम आपके खिलाफ नहीं लड़ रहे हैं. हमारी लड़ाई उस शख्स है जो दिल्ली में बैठा है. यहां प्रकाश अंबेडकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात कर रहे हैं.

छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम के दौरान एक आदिवासी महिला को चप्पल पहनाई थी. दरअसल पीएम मोदी ने बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती पर छत्तीसगढ़ के बीजापुर में चरण पादुका के नाम से एक योजना का उद्घाटन किया था. इस योजना का मकसद आदिवासी लोगों तक चप्पलें पहुंचाना है जो जंगलों में नंगे पैर ही चलते हैं. इस मामले पर बोलते हुए अंबेडकर ने कहा कि इस तरह की हरकत पादरी करते हैं. अब नरेंद्र मोदी को भी पादरियों की तरह सफेद चोला पहन लेना चाहिए. जिससे कि आरएसएस चर्चों पर हमले करना बंद कर दे.

इतना ही नहीं उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दलित नेता रामदार अठावले की तुलना जालसाज से कर दी. उन्होंने कहा कि हमें पूरी ताकत से विचारों का युद्ध लड़ना पड़ेगा. केवल अंबेडकरवादी लोग ही मोदी लहर को खत्म कर सकते हैं.

इस मौके पर प्रकाश अंबेडकर ने प्रबुद्ध भारत के नाम से एक वेब पोर्टल भी लॉन्च किया. ये उसी मैग्जीन का नाम है जिसे कभी बाबा साहेब अंबेडकर ने शूरू किया था. इस मौके पर प्रकाश की पत्नी अंजलि और बेटा सूजत भी मौजूद थे. उन्होंने इस वेब पोर्टल के लिंक को सोशल मीडिया में शेयर करने का अनुरोध किया.

अंबेडकर जयंती पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दलितों के साथ पांच सितारा होटल में किया डिनर

दलितों को हरिजन कहना मंत्री को पड़ा भारी, लोगों ने किया हंगामा तो बीच में खत्म करना पड़ा भाषण

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App