नई दिल्ली: 13 हजार करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी ने पहली बार इस मामले पर सफाई दी है. चोकसी ने वीडियो जारी कर रहा कि उन पर प्रवर्तन निदेशालय द्वारा लगाए गए तमाम आरोप बेबुनियाद हैं. न्यूज एजेंसी एनआई द्वारा भेजे गए सवालों के जवाब में चोकसी ने कहा, ”ईडी ने मुझ पर जो भी आरोप लगाए हैं, वे तथ्यहीन और झूठे हैं. उन्होंने गैरकानूनी तरीके से मेरी संपत्ति कुर्क कर ली.” ये सभी सवाल चोकसी के वकील ने उनके पूछे थे, जिसका वीडियो पर उन्होंने जवाब दिया. पीएनबी घोटाले में नाम सामने आने के बाद से ही मेहुल चोकसी फरार है. इस मामले में उनके भांजे और डायमंड व्यापारी निरव मोदी भी आरोपी हैं.

मेहुल चोकसी को एंटीगुआ ने नवंबर में नागरिकता दी थी. इस साल जनवरी के पहले हफ्ते में मेहुल चोकसी भारत छोड़कर चला गया था और 15 जनवरी को एंटिगुआ की नागरिकता ले ली. इसके बाद 29 जनवरी को सीबीआई ने मेहुल चोकसी और उनके भांजे निरव मोदी के खिलाफ जांच शुरू कर दी.

जब एंटीगुआ द्वारा मेहुल चोकसी को नागरिकता दिए जाने पर सवालिया निशान खड़े हुए तो  एंटीगुआ सरकार ने कहा था कि मेहुल चोकसी की ‘पृष्ठभूमि की कड़ी जांच’ और मुंबई पुलिस व भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा मंजूरी प्रमाणपत्र देने के बाद कैरेबियाई देश की नागरिकता प्रदान की गई है.

एंटीगुआ और बारबुडा के ‘सिटिजनशिप बॉय इंवेस्टमेंट यूनिट (सीआईयू)’ ने हालांकि कहा कि चोकसी की पृष्ठभूमि की जांच के दौरान यह पता चला कि भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने उनके खिलाफ दो बार जांच शुरू की थी. लेकिन सेबी के अनुसार मामले को बंद कर दिया गया था.सिटिजनशिप अथॉरिटी ने विस्तृत बयान में कहा था कि चोकसी का आवेदन मई 2017 में जरूरी दस्तावेज के साथ प्राप्त हुआ था, जिसमें पुलिस मंजूरी प्रमाणपत्र भी था.

बता दें कि सोमवार को इंटरपोल ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी दीपक मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है. वहीं सीबीआई ने निरव मोदी के भाई निशल मोदी के प्रत्यपर्ण की मांग की है, जो बेल्जियम की नागरिक हैं. इस संबंध में गृह मंत्रालय को जरूरी कदम उठाने के लिए आवेदन भेजा गया है.

PNB घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी पर भारत को एंटीगुआ से करारा झटका, ना होगा अरेस्ट और ना ही भेजा जाएगा देश

PNB घोटाले में बड़ी कार्रवाई, इलाहाबाद बैंक की MD ऊषा अनंत सुब्रमण्यम कार्यकाल के अंतिम दिन बर्खास्त

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App