नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के ठिकानों पर देशभर में छापेमारी की. इस छापेमारी में प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के ठिकानों से 5100 करोड़ का सोने-हीरे के आभूषण जब्त किये हैं. पंजाब नेशनल बैंक में 11,300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी के शोरूम और अन्य ठिकानों पर छापेमारी शुरू की जिसमें कारोबारी की संपत्ति जब्त की गई.

प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को नीरव के कुल 17 ठिकानों पर छापेमारी की. अरबपति कारोबारी नीरव के ठिकानों से हीरे सोने के आभूषणों के अलावा कई रिकॉर्ड्स भी आगे की जांच के लिए जब्त किए हैं. इसके अलावा 3.9 करोड़ रुपये के बैंक खाते और फिक्स्ड डिपॉजिट भी फ्रीज किए गए हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में सीबीआई में इस माह के शुरू में दर्ज एक प्राथमिकी (एफआईआर) के आधार पर मनी लांड्रिंग निरोधक अधिनिमय (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया था.

इस सबके अलावा एजेंसी इस बात की भी जांच करेगी कि क्या कथित रूप से धोखाधड़ी से लिए गए धन की लांड्रिंग हुई और क्या अपराध की कमाई का बाद में गैरकानूनी तरीके से संपत्तियां खरीदने और कालेधन के रूप में इस्तेमाल किया गया. बैंक ने मंगलवार को सीबीआई के पास दो और शिकायतें भेजते हुए कहा है कि यह घोटाला 11,400 करोड़ रुपये से अधिक का है. प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने नीरव मोदी के भाई निशाल, पत्नी एमी और मेहुल चीनूभाई चौकसी और दो नामजद बैंक अधिकारियों गोकुलनाथ शेट्टी (अब सेवानिवृत्त) और मनोज खराट के घरों पर भी तलाशी ली.

 

PNB Fraud Case: राहुल गांधी ने बताया नीरव मोदी की भारत लूट का प्लान, केंद्र पर बरसे केजरीवाल

PNB Fraud Case: जानिए कौन हैं 11,360 करोड़ का फ्रॉड करने वाले नीरव मोदी, जिनकी कंपनी 50 करोड़ रुपये के हीरे बेचती है