नई दिल्ली. PM Narendra Modi Slams Congress In Lok Sabha: लोकसभा में राष्ट्रपति के अविभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जोरदार निशाना साधा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिन लोकसभा में दिए गए अधीर रंजन चौधरी के बयान की ओर इशारा करते हुए कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता कहते हैं कि वह उनकी कभी बराबरी नहीं कर पाएंगे. प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि हम दूसरे की लकीर छोटी करने में विश्वास नहीं करते हैं, हम अपनी लकीर लंबी करने के लिए जिंदगी खपा देते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस स्पीच को गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्विटर पर शेयर किया है और इसे पावरफुल स्पीच बताया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि आपको, आपकी ऊंचाई मुबारक हो, क्योंकि आप इतने ऊंचे चले गए हो कि आपको जमीन दिखनी बंद हो गई है. आप इतने ऊंचे चले गए हैं कि जड़ों से उखड़ गए हैं. इसलिए जो जमीन पर है वो आपको तुच्छ दिखता है. आपका ऊंचा होना मेरे लिए संतोष का विषय रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि ऊंचाई को लेकर हमारी और आपके बीच कोई स्पर्धा ही नहीं है. हमारा सपना ऊंचा होने का नहीं, हमारा सपना जमीन से जुड़ने का है और देश को ताकत देने का है मजबूत बनाने का है. पीएम ने कहा कि हम इस स्पर्धा में हैं ही नहीं, इसलिए जिस स्पर्धा में हम हैं ही नहीं उसमें हम आपको सिर्फ शुभकामनाएं दे सकते हैं.

बता दें कि लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर विवादित टिप्पणी की थी. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से पीएम नरेंद्र मोदी की तुलना पर अधीर रंजन चौधरी ने संसद में कहा था कि कहां मां गंगा और कहां गंदी नाली. हालांकि बाद में अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि उन्होंने प्रधानमंत्री के लिए गंदी नाली शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था. अगर मेरे बयान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तकलीफ पहुंची है तो वह व्यक्तिगत रूप से उनसे माफी मांगते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधीर रंजन चौधरी के इसी बयान को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है.

Chennai Water Crisis Puzhal Lake Aeri Reservoir Dry: मानसून और बारिश के इंतजार में झुलस रहे चेन्नई में पुजहल झील सूखने से पानी संकट गहराया

Triple Talaq Bill Divides NDA: तीन तलाक बिल को लेकर एनडीए में फूट, जेडीयू ने कॉमन एजेंडा सेट करने के लिए समन्वय समीति बनाने की मांग