बिश्केक: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 और 14 जून को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक के शंघाई सहयोग संगठन एससीओ समिट का हिस्सा बने. इस बैठक में वैश्विक सुरक्षा और आर्थिक सहयोग को लेकर बात हुई. इस यात्रा से मध्य एशियाई देशों के साथ भारत के संबंधों को मजबूती मिली. एससीओ के सदस्य देश चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान हैं.

माना जा रहा है कि इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की पाकिस्तान को छोड़कर कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ द्विपक्षीय बातचीत होगी. इसके अलावा किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव के साथ भी पीएम मोदी द्विपक्षीय बातीच करेंगे. बिश्केक रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि किर्गिज गणराज्य में होने वाले एससीओ समिट में वैश्विक सुरक्षा और आर्थिक सहयोग पर विशेष जोर रहेगा. साथ ही साथ उन्होंने ये भी कहा कि एससीओ समिट की वजह से भारत और एशियाई देशों के बीच संबंध मजबूत होगें.

पीएम मोदी ने बिश्केक में चली रही एससीओ समिट को संबोधित किया. इसके प्रमुख पॉइंट्स इस प्रकार हैं.

  • पीएम मोदी ने कहा है कि स्वास्थ्य देखभाल सहयोग, आर्थिक सहयोग, वैकल्पिक ऊर्जा, साहित्य और संस्कृति और आतंकवाद मुक्त समाज ही प्रमुख मुद्दे हैं.
  • पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकवाद का समर्थन करने वाले राष्ट्रों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए
  • पीएम मोदी ने कहा कि आतंक का प्रोत्साहन बंद करना होगा. आतंक से रोज मासूमों की जानें जाती हैं.
  • पीएम नरेंद्र मोदी, कहा- SCO देशों को आतंक से निपटने के लिए एकजुट होना होगा.
  • पीएम मोदी ने कहा कि साहित्य और संस्कृति हमारे समाजों को एक सकारात्मक गतिविधि प्रदान करते हैं. युवाओं में कट्टरता के प्रसार को रोकते हैं.
  • पीएम मोदी ने कहा श्रीलंका की अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने सेंट एंथोनी के धर्मस्थल का दौरा किया, जहां उन्होंने आतंकवाद के कुरूप चेहरे को देखा, जो निर्दोष लोगों की जान लेता है.

क्या है एससीओ समिट? What is SCO Summit?

साल 1996 में रूस, चीन, ताजिकिस्तान, कजाकस्तान और किर्गिस्तान जैसे देशों ने आपसी तालमेल और सहयोग के लिए एक संगठन बनाया था जिसे उस वक्त शंघाई-5 के नाम से जाना जाता था. सितंबर 2014 में भारत ने शंघाई सहयोग संगठन की सदस्यता के लिए आवेदन किया था. साल 2015 में रूस के उफा में भारत को शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य के तौर पर दर्जा मिलने का ऐलान हुआ था. इसी साल पाकिस्तान को भी एससीओ के सदस्य के तौर पर मान्यता मिली थी. फिलहाल एससीओ के सदस्य देश हैं चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान.

यहां पढ़ें PM Narendra Modi Bishkek SCO Summit LIVE Updates:

रात 10 बजे- कजाकिस्तान की राजधानी बिश्केक में दो दिवसीय एससीओ समिट में हिस्सा लेने के बाद भारत लौटे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. 

शाम 5 बजे- किर्गिस्तान के बिश्केक में पीएम मोदी ने एससीओ समिट के बाद दुनिया को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि व्यापार को बढ़ावा देने पर हमारा जोर है. पीएम मोदी ने कहा कि एससीओ के देशों के बीच व्यापार एक अहम मुद्दा है और इसपर फोरस जरूरी है. 

शाम 4 बजे- किर्गिस्तान के बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि एससीओ मीटिंग के दौरान सभी सदस्य देशों ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई पर सहमति जताई और माना कि आतंकवाद का खात्मा जरूरी है. 

दोपहर 2.30 बजे बिश्केक में चल रहे एससीओ समिट में सदस्य देशों के राष्ट्र अध्यक्षों की ग्रुप फोटो.

 

दोपहर 2 बजे बिश्केक में चल रहे एससीओ समिट में दस्तावेज पर हस्ताक्षर करते प्रधानमंत्री नरेंद्री मोदी.

दोपहर 1.53 बजे बिश्केक में चल रहे एससीओ समिट में सभी सदस्यों ने दास्तावेज पर हस्ताक्षर किए.

दोपहर 12.15 बजे पीएम मोदी और बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेन्को के बीच मुलाकात शुरू हो गई है. 

दोपहर 12.10 बजे  पीएम मोदी ने कहा है कि भारत 2 साल से एससीओ का परमानेंट मेंबर है और एससीओ की सभी गतिविधियों में सहयोग करता है. भारत आगे भी इसी तरह एससीओ में अपनी भागीदारी निभाता रहेगा.

सुबह 11.53 बजे पीएम मोदी बिश्केक में चल रही एससीओ समिट में मेंबर्स को संबोधित कर रहे हैं.

सुबह 10.30 बजे बिश्केक में चल रही एससीओ समिट के दौरान पीएम मोदी व अन्य मेंबर्र का ग्रुप फोटो. 

सुबह 10.05 बजे बिश्केक में चल रही एससीओ मीटिंग के मेंबर्स ज्वाइंट फोटग्राफ के लिए पहुंच रहे हैं. 

सुबह 10.02 बजे बिश्केक में चल रही एससीओ मीटिंग शुरू हो चुकी है. पीएम मोदी व अन्य एससीओ मेंबर्स के बीच बातचीत शुरू हो गई है. 

सुबह 9.45 बजे इसी बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार को बिश्केक में दिए गए एक इंटरव्यू में कहा है कि वह भारत से बात करना चाहते हैं.

सुबह 7.30 बजे बिश्केक में चल रहे एससीओ समिट में आज पीएम नरेंद्र मोदी आज ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी से मुलाकात करेंगे.

सुबह 7 बजे:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात की. इस दौरान दोनों देशों के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने को लेकर बातचीत की गई. 

रात 9:00 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात किर्गिस्तान के बिश्केक में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात के बाद ट्वीट किया कि रूस और भारत के रिश्तों को और मजबूत करने की दिशा में रूसी राष्ट्रपति से बातचीत हुई. 

शाम 7.50 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बैठक के बाद भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि रूस और भारत के बीच अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर बातचीत की बजाय इस मुद्दे पर ज्यादा फोकस रहा कि पीएम मोदी की अगली रूस यात्रा को किस तरह सफल बनाई जाए.  

शाम 7.30 बजे: भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि जापान के ओसाका में होने वाले जी-2- समिट के समय भारत, रूस और चीन के बीच त्रिपक्षीय वार्ता की योजना बन रही है.    

शाम 7.00 बजे: किर्गिस्तान के बिश्केक में पीएम मोदी ने एससीओ समिट से अलग रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक की. इसके बाद भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि व्लादिमीर पुतिन ने पीएम मोदी को रूस के व्लादिवोस्तोक में सितंबर में होने वाले ईस्टर्न इकॉनोमिक फोरम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने का न्योता दिया है. 

शाम 6.30 बजे: किर्गिस्तान में एससीओ समिट से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ बैठक करने के बाद अब रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बैठक कर रहे हैं.

शाम 6.15 बजे: किर्गिस्तान के बिश्केक में भारत और चीन के बीच एससीओ समिट से इतर गुरुवार शाम बैठक में कुटनीतिक मुद्दों पर भी चर्चा हुई, जिसमें पाकिस्तान और आतंकवाद का मसला भी था. विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और पीएम मोदी के बीच पाकिस्तान के मसलों पर भी चर्चा हुई. पीएम मोदी ने कहा कि आतंक का वातावरण खत्म किए बिना शांति प्रक्रिया और शांति वार्ता की दिशा में पहल नहीं हो सकती. पीएम मोदी ने साफ शब्दों में कहा कि आतंक का खात्मा बेहत जरूरी है.  

शाम 6.00 बजे: किर्गिस्तान के बिश्केक में एससीओ बैठक से इतर चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक की. बैठक के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि बैठक में चीन और भारत के बीच चर्चा हुई कि दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों की दिशा में आगे बढ़ने को प्रयासरत होंगे और पीएम मोदी ने शी चिनफिंग को भारत आने का न्योता दिया है जिसे चीनी राष्ट्रपति ने स्वीकार किया है.

शाम 5.50 बजे: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) समिट में शामिल होने किर्गिस्तान के बिश्केक पहुंच चुके हैं. एससीओ के सदस्य देश हैं- चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान.

शाम 5.20 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किर्गिस्तान के बिश्केक में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ प्रतिनिधि स्तर की बातचीत की. यह बैठक शंधाई सहयोग संगठन के देशों के बीच होने वाली बैठक से अलग है. शी चिनफिंग और पीएम मोदी के बीच कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत हुई. 

शाम 4.40 बजे:  किर्गिस्तान के बिश्केक में एससीओ समिट से इतर चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मीटिंग शुरू हो चुकी है. चीन और भारत के प्रतिनिधि भी इस दौरान मीटिंग में मौजूद हैं और भारत-चीन के बीच कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत जारी है.

शाम 4.10 बजे: प्रधानमंत्री ऑफिस ने पीएम नरेंद्र मोदी का किर्गिस्तान में भव्य स्वागत करने पर किर्गिज रिपब्लिक के डिप्टी प्रधानमंत्री जामिरबेक मारिपबेविच आस्कारोव का शुक्रिया अदा किया है.  

दोपहर 3.10 बजे: शंघाई सहयोग संगठन एससीओ समिट में हिस्सा लेने के लिए किर्गिस्तान पहुंचे पीएम मोदी का स्थानीय सरकारी प्रतिनिधियों ने मानस इंरटनैशनल एयरपोर्ट पर पारंपरिक तरीके से स्वागत किया.

दोपहर 2.40 बजे: गुजरात सीएमओ ने जानकारी दी है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने बिश्केक पहुंचने के तुरंत बाद चक्रवात वायु की तैयारियों पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी के साथ टेलीफोन पर बातचीत की और चक्रवात वायु के प्रभावों को कम करने के लिए केंद्र सरकार से सभी सहायता और समर्थन का आश्वासन दिया.

दोपहर 2.30 बजे: साल 2015 में रूस के उफा में भारत को शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य के तौर पर दर्जा मिलने का ऐलान हुआ था. इसी साल पाकिस्तान को भी एससीओ के सदस्य के तौर पर मान्यता मिली थी. फिलहाल एससीओ के सदस्य देश हैं चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, भारत और पाकिस्तान.

दोपहर 2.20 बजे: साल 1996 में रूस, चीन, ताजिकिस्तान, कजाकस्तान और किर्गिस्तान जैसे देशों ने आपसी तालमेल और सहयोग के लिए एक संगठन बनाया था जिसे उस वक्त शंघाई-5 के नाम से जाना जाता था. सितंबर 2014 में भारत ने शंघाई सहयोग संगठन की सदस्यता के लिए आवेदन किया था.

दोपहर 2.10 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किर्गिस्तान के बिश्केक पहुंचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया. यहां से नरेंद्र मोदी शहर में एससीओ शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए रवाना हो गए हैं और शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे.

दोपहर 2.00 बजे: किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में होने वाले शंघाई सहयोग संगठन एससीओ समिट में वैश्विक सुरक्षा और आर्थिक सहयोग को लकेर बात होगी साथ ही साथ ये यात्रा मध्य एशियाई देशों के साथ भारत के संबंधों को मजबूती प्रदान करेगा.

दोपहर 1.50 बजे: बिश्केक रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि किर्गिज गणराज्य में होने वाले एससीओ समिट में वैश्विक सुरक्षा और आर्थिक सहयोग पर विशेष जोर रहेगा. साथ ही साथ उन्होंने ये भी कहा कि एससीओ समिट की वजह से भारत और एशियाई देशों के बीच संबंध मजबूत होगें.

दोपहर 1.40 बजे: पीएम नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन, एससीओ के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए किर्गिस्तान के बिश्केक पहुंच गए हैं. वह शिखर सम्मेलन के मौके पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे.

दोपहर 1.30 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर किर्गिस्तान गया जहाज बिश्केक पहुंच गया है. इस वक्त एयरपोर्ट पर उनके जहाज से उतरने का इंतजार हो रहा है. पीएम मोदी बिश्केक में दो दिन रहेंगे जिस दौरान एससीओ शिखर सम्मेलन के अलावा चीन के राष्ट्रपति हू जिंताओ और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से सम्मिट से अलग भी मीटिंग करेंगे. पाकिस्तान के पीएम इमरान खान भी एससीओ सम्मिट में पहुंचेंगे लेकिन उनके साथ पीएम मोदी की अलग से कोई बैठक नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App