नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए चुनाव आयोग परी तरह से सख्त दिखाई दे रहा है. चुनाव आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक के साथ तमिलनाडु के राजनेता केसीआर की बायोपिक उदयमा सिम्हम और आंध्र प्रदेश के बड़े राजनेता एनटीआर की बायोपिक एनटीआर लक्ष्मी के रिलीज होने पर लोकसभा चुनाव 2019 तक रोक लगा दी है. वहीं सोशल मीडिया पर यूजर्स चुनाव आयोग के इस फैसले को गलत बता रहे हैं कि एक प्रोड्यूसर फिल्म को बनाने के लिए करोड़ो रुपये खर्च करता है.

इसके साथ ही कुछ यूजर्स चुनाव आयोग के इस फैसले को सही बता रहे हैं तो कई यह भी कह रहे हैं कि चुनाव आयोग एक भगवान के रुप में काम कर रहा है. चुनाव आयोग हर तरह से अपनी मर्जी चला रहा है आचार संहिता तो सिर्फ एक बहाना है. कुछ यूजर्स का मानना ये भी है कि इस तरह से यह एक प्रचार होता है जो कि आचार सहिंता के खिलाफ है.

 

चुनाव आयोग के इस फैसले पर एक यूजर्स ने कहा कि चुनाव आयोग ने पंजाब चुनाव से पहले फिल्म उड़ता पंजाब को रिलीज कर दिया था. इससे साफ पता चलता है कि विपक्ष को मोदी की बायोपिक के रिलीज होने से कितना खौफ है. बता दें इसके साथ ही चुनाव आयोग ने साफ आदेश दिए हैं कि चुनाव से पहले किसी भी तरह की ऐसा कंटेंट जो आचार संहिता के खिलाफ हो उसे प्रदर्शित नहीं किया जाए.

हालांकि पीएम मोदी की बायोपिक की एक वेब सीरीज मोदी-जर्नी ऑफ ए कॉमन मैन के कुछ एपिसोड ऑनलाइन प्लेटफॉर्म इरोज पर रिलीज हो गए हैं. अब चुनाव आयोग के फैसले के बाद देखना यह होगा कि उन पर रोक लगेगी या नहीं.

पीएम मोदी की बायोपिक में बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबरॉय मोदी के किरदार में हैं और इस फिल्म का निर्देशन संदीप सिंह कर रहे हैं. इस फिल्म को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पहले तो साफ मना कर दिया था कि यह फिल्म आचार संहिता का उल्लंघन नहीं करती हैं लेकिन अब चुनाव आयोग के फैसले के बाद पीएम मोदी की बायोपिक लोकसभा चुनाव तक रिलीज नहीं होगी.

PM Narendra Modi Biopic New Promo Video: चुनाव से पहले विवेक ओबेरॉय की फिल्म पीएम मोदी बायोपिक का दमदार प्रोमो रिलीज

PM Narendra Modi Biopic: पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक 5 अप्रैल को नहीं 12 अप्रैल को होगी रिलीज

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर