नई दिल्लीः 2019 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी पूरी तरह तैयारी में जुट गई है. इस बार चुनाव में एनआरआई (प्रवासी भारतीयों) वोटर अहम भूमिका निभा सकते हैं. दरअसल लोकसभा में रेप्रिजेंटेशन ऑफ द पीपल (अमेंडमेंट) बिल, 2017 पास हो चुका है. राज्यसभा से मंजूरी मिलने और राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद यह बिल कानून की शख्ल अख्तियार कर लेगा. बिल में एनआरआई को प्रॉक्सी वोटिंग के अधिकार का प्रावधान रखा गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस बिल के तहत अब वोटर लिस्ट में शामिल एनआरआई भी चुनाव में वोट दे सकेंगे. इसका मतलब यह है कि वह अपने चुनाव क्षेत्र में परिवार के किसी भी सदस्य या फिर अन्य को अपनी तरफ से वोट देने के लिए अधिकृत कर सकते हैं. मौजूदा समय में देश के 543 लोकसभा क्षेत्रों में करीब 1.1 करोड़ NRI वोट हैं, यानी हर संसदीय क्षेत्र में औसतन 21 हजार वोट. इतने वोट किसी भी उम्मीदवार की जीत को पुख्ता करने के लिए काफी हो सकते हैं.

दरअसल जिस तरह पिछले कुछ चुनावों में देखा गया है कि जीत का अंतर लगातार कम होता जा रहा है. ऐसे में किसी भी पार्टी के प्रत्याशी को जिताने में यह वोटर अहम भूमिका अदा कर सकते हैं. एनआरआई वोटर भारत में रह रहे अपने परिवार के वोट को भी प्रभावित कर सकते हैं. इस बिल से बीजेपी को मिलने वाली मदद के पीछे का एक गणित यह भी है कि 26 मई, 2014 को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नरेंद्र मोदी अब तक 54 से ज्यादा देशों का दौरा कर चुके हैं. जिन देशों का पीएम ने दौरा किया है, उनमें एक करोड़ से ज्यादा एनआरआई रहते हैं.

पीएम मोदी अपने हर दौरे में प्रवासी भारतीयों से जरूर मिलते हैं और उन्हें संबोधित करते हैं. पीएम मोदी अपने संबोधन में भारतीय अस्मिता और राष्ट्रवाद की बात जरूर करते हैं जो देश से बाहर रह रहे हर भारतीय के दिल को छू जाती है और इसका सीधा फायदा पीएम मोदी को मिलता है. पीएम मोदी के दौरों में प्रवासी भारतीयों में उनका क्रेज देखते ही बनता है. लिहाजा यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि पीएम की प्रवासी भारतीयों के बीच पैठ काफी गहरी है और ऐसे में एनआरआई के प्रॉक्सी वोटिंग का लाभ बीजेपी को जरूर मिलेगा.

2019 के चुनाव में कांग्रेस और राहुल गांधी की मदद के लिए सैम पित्रोदा ने अमेरिका में की प्रवासियों की मीटिंग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App