नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। यह वीडियो 2013 का है। तब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। 14 जुलाई, 2013 को उन्होंने पुणे के फर्गुसन कॉलेज में स्पीच दी थी। इसमें उन्होंने देश को ओलिंपिक में मेडल न मिलने पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि अगर सेना के जवानों को ही ट्रेनिंग दी जाए तो 5-10 मेडल तो वही ला सकते हैं।

क्या कहा था उस भाषण में

क्या 120 करोड़ का देश, जब भी ओलिंपिक गेम्स होते हैं, उस समय टीवी में, अखबारों में, नेताओं में, सामाजिक जीवन में सब जगह पर चर्चा होती है। इतना बड़ा देश गोल्ड मेडल नहीं मिला। इतना बड़ा देश मेडल नहीं मिला। फलां देश ये कर गया। ढिकाना देश ये कर गया। ठीक है स्थिति है, लेकिन क्या कभी इस देश की शिक्षा व्यवस्था को हमने इसके साथ जोड़ा। हमारी युवा पीढ़ी को हमने मौका दिया। क्या 120 करोड़ के देश में नहीं मिल सकता।

सिर्फ सेना के जवानों को ये काम दिया जाए। सेना के जवानों में से मैपिंग की जाए। खेल में रुचि लेने वाले हैं, उन्हें अलग जगह पर रखा जाए। उनको ही ट्रेनिंग दी जाए तो 5-7-10 मेडल तो सेना के ये जवान लेकर आ सकते हैं। सोच चाहिए सोच। और फिर सिर पर हाथ पटककर बैठे रहना। कुछ नहीं हुआ। फिर एक-दो को नसीब आ गया तो उसी को सीना तानकर घूमते रहना।

इस स्पीच से पहले 2012 में लंदन ओलिंपिक हुआ था। उसमें भारत ने 6 मेडल जीते थे। इनमें विजय कुमार ने शूटिंग में सिल्वर जीता था। तब विजय कुमार सेना में मानद कैप्टन थे।

IGI Airport Bomb Blast Threat: इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी, अलकायदा ने भेजा मेल

Neeraj Chopra: गोल्ड मेडल लाने वाले नीरज चोपड़ा पर धनवर्षा, जीत के 3 घंटे के भीतर ही 13.75 करोड़ का ईनाम

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर