नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राज्यों और जिलों के अधिकारियों के साथ चर्चा की। मीटिंग में ग्रामीण इलाकों में कोरोना की रोकथाम के लिए जोर दिया गया। पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि इस कठिन समय में आपकी बहुत अहम भूमिका है। आप सब अपने-अपने जिलों का ध्यान रखें। देश में स्थिति खुद ब खुद बेहतर हो जाएगी।

दोपहर 12 बजे हुई इस वर्चुअल बैठक में देश के 46 जिलों के जिलाधिकारी मौजूद थे। जिसमें कर्नाटक, एमपी, बिहार, असम, चंडीगढ़, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और गोवा के जिलाधिकारी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि आपको लोगों तक सही और पूरी जानकारी पहुंचाना है। अस्पताल में बेड कहाँ हैं और कितने हैं, इस जानकारी से लोगों को सहूलियत होगी।

पीएम मोदी ने जिलाधिकारियों को कोरोना से जंग में फील्ड कमांडर बताया। उन्होंने जिलाधिकारियों को टेस्टिंग, ट्रैकिंग, कंटेंमेंट और वैक्सिनेशन का मंत्र दिया।

विपक्ष का हमला

पीएम मोदी की ये वर्चुअल मीटिंग लाइव प्रसारित की गई। जिसको लेकर दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने सवाल खड़े किए। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर लिखा कि, आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य टीवी पर लाइव प्रसारित हुआ। पिछली बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल के लाइव प्रसारण पर आपत्ति की थी कि प्रोटोकॉल तोड़ा गया। ”

उन्होंने सवालिया लहजे में लिखा कि “आज के प्रोटोकॉल में लाइव ब्रॉडकास्ट की इजाजत थी? कैसे पता चले कि कौन सी बैठक से लाइव प्रसारण हो सकता है, कौन सी में नहीं?”

Cyclone Tauktae : मुंबई में तबाही मचाने के बाद गुजरात में दाखिल हुआ तूफान तौकते, अब तक 12 की मौत

India Covid Latest Updates : कोरोना से 24 घंटे में 4,329 लोगों की मौत, 2.63 लाख मिले नए केस, प्लाज्मा थेरेपी से नहीं होगा कोविड मरीज का इलाज

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर