नई दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने मोदी सरकार के इस कार्यकाल के अंतिम बजट पेश करने से पहले सरकार की पीठ थपथपाई है. गुरुवार को किए गए एक ट्वीट में पीयूष गोयल ने लिखा कि मोदी सरकार ने इस साल जनवरी माह में माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के जरिए करीब एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है. उन्होंने ट्वीट में आगे बताया है कि सरकार को पिछले साल जनवरी में जीएसटी से करीब 89,825 करोड़ रुपये और दिसंबर 2018 में 94,725 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी. वित्त मंत्री ने अपने ट्वीट में अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि यह दर गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग को लाभ पहुंचाने वाली विभिन्न वस्तुओं में कर की दरों में भारी कमी के बावजूद यह कमाई की है.

शुक्रवार को सरकार अंतरिम बजट पेश करने जा रही है. अरुण जेटली की अनुपस्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी पीयूष गोयल को सौंपी है. अटकलें लगाई जा रही थी मोदी सरकार अंतरिम बजट के बजाय पूर्ण बजट पेश कर सकती है. इससे पहले गुरुवार को वाणिज्य मंत्रालय के एक वॉटसएप मैसेज के बाद भ्रम की स्थित बन गई थी जिसमें 2019-20 के बजट को अंतरिम बजट के बाद आम बजट बताया गया था. हालांकि बाद में वित्त मंत्रालय ने साफ तौर पर कहा कि सरकार इस बार अंतरिम बजट की पेश करेगी.

पीयूष गोयल का ट्वीट:

इससे पहले गुरुवार को बजट सत्र के शुरुआत करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपना अभिभाषण पढ़ा. अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोदी सरकार की उपलब्धियों सामने रखा. राष्ट्रपति के भाषण के बाद राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, अंतरिम बजट में केंद्र की मोदी सरकार कई लोकलुभावन घोषणाएं कर सकती है. अटकलों के मुताबिक, मोदी सरकार बजट में उज्जवला योजना, आयुष्मान, कृषि योजनाओं, महिला सुरक्षा और स्वच्छ भारत मिशन का बजट बढ़ा सकती है.

GDP Growth Rate In 2017-18: बजट से पहले नरेंद्र मोदी सरकार के लिए खुशखबरी, 2017-18 में 7.2 फीसदी रही विकास दर

Budget 2019: उज्ज्वला, आयुष्मान समेत इन पांच योजनाओं का बजट बढ़ा सकती है नरेंद्र मोदी सरकार, राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण से मिले संकेत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App