नई दिल्लीः ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी और बड़े अधिकारियों द्वारा भारत में सूचना और तकनीकी मामलों की संसदीय समिति के सामने पेश होने से इनकार करने को लेकर विवाद बढ़ गया है. ट्विटर के सीईओ और बड़े अधिकारियों को रविवार यानी 11 फरवरी को बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति के सामने पेश होना है, लेकिन इससे पहले शनिवार को ट्विटर ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि ट्विटर के सीईओ और अधिकारी संसदीय समिति के सामने पेश नहीं होंगे. इस मामले को लेकर शनिवार को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि ट्विटर सीईओ जैक डोर्सी और ट्विटर के बड़े अधिकारियों द्वारा संसदीय समिति के सामने पेश होने को लेकर सरकार इन पर कार्रवाई नहीं कर सकती. साथ ही उन्होंने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और राज्ससभा के सभापति वेंकैया नायडू ही इस मामले में फैसला लेंगे कि संसदीय समिति के सामने पेश होने से इनकार करने को लेकर इन पर क्या कार्रवाई हो. वहीं, बीजेपी सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा है कि हमलोग सोमवार को इस मामले पर चर्चा करेंगे, उसके बाद आगे की कार्रवाई करेंगे.

  1. जैक डोर्सी और बडे अधिकारियों को भारत में सोशल मीडिया पर नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने, डेटा प्राइवेसी और आगामी लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म के सही इस्तेमाल से जुड़े मामलों को लेकर बीते एक फरवरी को समन किया गया था.
  2. ट्विटर ने बताया है कि ट्विटर सीईओ काम के सिलसिले में ट्रैवल कर रहे हैं, इसलिए संसदीय समिति के सामने पेश नहीं हो सकते.
  3. मालूम हो कि ट्विटर सीईओ को पहले 7 फरवरी को संसदीय समिति के सामने पेश होना था, लेकिन बाद में उन्हें और 4 दिन का समय दिया गया, लेकिन इसके बावजूद ट्विटर अपने अधिकारियों की पेशी से इनकार किया है.

Twitter CEO Decline Parliamentary panel: अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति के सामने पेश होने से ट्विटर सीईओ जैक डोर्सी और बड़े अधिकारियों ने किया इनकार

Congress Press Conference: कर्नाटक में विधायक खरीद टेप पर भड़की कांग्रेस, पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी से रणदीप सुरजेवाला ने पूछे ये सवाल

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App